CM योगी ने किया नए हाईटेक पुलिस मुख्यालय का उद्घाटन, जानें इस ‘सिग्नेचर बिल्डिंग’ की ख़ासियत-

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सोमवार को नए पुलिस मुख्यालय का उद्घाटन कर दिया है. इस हाईटेक भवन को सिग्नेचर बिल्डिंग का नाम दिया गया है. इस भवन के निर्माण में 816 करोड़ रुपये की लागत लगी है.

cm yogi adityanath inaugurate new police headquarters in lucknow
cm yogi adityanath inaugurate new police headquarters in lucknow

बाहर से देखने में ये कोई महल या होटल से कम नहीं है. लेकिन ये उत्तर प्रदेश पुलिस का नया मुख्यालय जो लखनऊ में ही है. इस नए मुख्यालय को देखने के बाद हर कोई हैरान है. 40178 वर्ग मीटर में फैले पुलिस मुख्यालय में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं दी गई हैं. नए पुलिस भवन में पुलिस अधिकारी बैठने लगे हैं. इस सिग्नेचर बिल्डिंग के नौवें तल पर डीजीपी का दफ्तर है.

-----

इस नए पुलिस मुख्यालय में डीजीपी के साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस की 18 इकाइयों के मुख्यालय और उनके मुखिया का भी दफ्तर है. जीआरपी, टेक्निकल सर्विसेज, अग्निशमन निदेशालय, यातायात निदेशालय, लाजिस्टिक प्रशिक्षण निदेशालय, भ्रष्टाचार निवारण संगठन, आर्थिक अपराध शाखा, एसआइटी, मानवाधिकार, रूल्स एंड मैनुएल्स के मुख्यालय भी इसी भवन में मौजूद होंगे. यहां करीब दो हजार से ज्यादा वाहनों की पार्किंग के लिए व्यवस्था की गई है.

यूपी भी अब अमेरिका की तरह बन गया है. अब कोई भी समस्या हो पुलिस तुरंत उड़ कर आपके पास पहुँच जाएगी क्युकी इस सिग्नेचर बिल्डिंग में ऊपर हेलीपेड बना हुआ है. यहाँ से पुलिस कभी भी उड़ सकती है और कहीं से भी उड़ कर यहाँ पहुँच सकती है. मतलब अब रोड पर होने वाले ट्रैफिक की भी चिंता नहीं है. अब पुलिस सुपरमैन बन चुकी है. किसी भी आपातकालीन स्थिति में भी अब पुलिस बिना देरी के पहुँच सकती है.

ये सिग्नेचर बिल्डिंग 9 मंजिल की बनी है. इसमें 4 टॉवर और 18 लिफ्ट लगी हैं. बिल्डिंग की सुरक्षा के लिए 150 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं. 10 मेटल डिटेक्टर भी सिग्नेचर बिल्डिंग में लगे हैं. ग्राउंड फ्लोर पर कैफेटेरिया, मीडिया सेंटर बना है. इसमें किसी बड़े आयोजन के लिए 500 सीटर का ऑडिटोरियम भी बनाया गया है. बिजली की बचत के लिए सभी फ्लोर और इमारत में ग्लास यूनिट का इस्तेमाल किया गया है. ताकि दिन में खूब रोशनी रहे. अधिकृत पास और एक्सिस कार्ड के बिना बिल्डिंग में किसी को भी एंट्री नहीं मिलेगी.

नए डीजीपी ऑफिस की ख़ासियत भी जान लीजिये. उनके ऑफिस में निजी डाइनिंग रूम, कान्फ्रेंस रूम और निजी लिफ्ट भी है. नवीं मंजिल पर डीजीपी ऑफिस से लगा एक गार्डन है जो कि बालकनी में बना है. यहां से पूरा गोमती नगर विस्तार और गोमती नदी का नजारा देखने को मिलता है.