CM योगी की बड़ी कार्रवाई, सोनभद्र के DM और SP को हटाया, 15 अगस्त तक सबकी छुट्टियां रद्द

सोनभद्र में हुए नरसंहार से जुड़े घटनाक्रम की जांच रिपोर्ट मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपे जाने के ठीक दूसरे दिन ही रविवार को सीएम योगी ने कड़ी कार्रवाई की है.

cm yogi adityanath action on sonbhadra case
cm yogi adityanath action on sonbhadra case

सीएम योगी ने बड़ी कार्यवाही करते हुए जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल और पुलिस अधीक्षक सलमान जफर ताज पाटिल को पद से हटा दिया है. और साथ ही उनके खिलाफ अनुशासनिक जांच के आदेश दिये हैं. वहीं एस. राजलिंगम को सोनभद्र में नया डीएम और प्रभाकर चौधरी को नए एसपी तैनात किया गया है. देर से कार्यवाही करने के लिए योगी ने इस मामले मेें पुलिस क्षेत्राधिकारी, सहायक अभिलेख अधिकारी और सहायक निबंधक कृषि सहकारी समितियां को निलंबित कर दिया है.

-----

उन्होंने बताया कि इस प्रकरण में कुल सात अराजपत्रित पुलिसकर्मियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जा रही है. जिसमें तीन इंस्पेक्टर, एक दारोगा, दो मुख्य आरक्षी और एक आरक्षी शामिल है. कुल 28 दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. अब इन मामलों की जांच के लिए डीआइजी जे. रवींद्र गौड़ की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (एसआइटी) गठित की गई है.

10 अक्टूबर 1952 को घटना शुरू हुई थी. बिहार के कांग्रेसी नेता ने जमीन कब्जा की थी. सोसाइटी की भूमि को व्यक्तिगत की. गांव के मूल निवासियों को नजरंदाज किया गया. 1955 के तहसीलदार ने अव्यवस्था की और कांग्रेस ने सत्ता का दुरूपयोग किया और गरीबों की भूमि पर कब्जा कराया गया. 2017 में विवादित जमीन को बेंचा गया. सपा के लोगों को जमीन बेंची गई थी. गांव का प्रधान सपा का सदस्य है. तहसीलदार ने नाम बदलने का काम किय़ा है.

तत्कालीन तहसीलदार पर केस दर्ज होगा. कमेटी सीएम योगी को 3 माह में जांच रिपोर्ट सौंपेगी. वहीं जमीन फिर से ग्राम पंचायत के नाम होगी और जमीन भूमिहीनों को दी जाएगी. सोसाइटी के जीवित लोगों पर केस दर्ज होगा.

वहीं 15 अगस्त स्वतंत्रता को देखते हुए कानून-व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 अगस्त तक पुलिस समेत अन्य संबंधित सरकारी विभागों में कोई छुट्टी न दिये जाने का आदेश जारी किया है.