crossorigin="anonymous"> बीजापुर नक्सली हमले में 22 जवान शहीद, कई लापता, नक्सलियों ने लूटे हथियार - Ulta Chasma Uc

बीजापुर नक्सली हमले में 22 जवान शहीद, कई लापता, नक्सलियों ने लूटे हथियार

बस्तर के बीजापुर में नक्सलियों ने 700 जवानों को घेरकर हमला किया इस भीषण मुठभेड़ में 22 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए हैं. बीजापुर एसपी ने बताया कि नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं और कई जवान अब भी लापता हैं.

chhattisgarh bijapur naxal encounter 22 jawans died

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने आशंका जाहिर की है कि ये संख्या 30 हो सकती है. ग्राउंड जीरो का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें 20 जवानों के शव घटनास्थल पर ही दिखाई दे रहे हैं. वीडियो घटना के 24 घंटे बाद सामने आया और तब तक रेस्क्यू टीम यहां नहीं पहुंची थी. नक्सलियों ने दो दर्जन से ज्यादा हथियार लूट लिए हैं और जवानों के जूते और कपड़े तक लेकर चले गए हैं.

तीन घंटे चली मुठभेड़ में 9 नक्सली भी मारे गए हैं. करीब 30 जवान घायल हुए हैं। मुठभेड़ के बाद 21 जवान लापता हैं. लापता जवानों की तलाश के लिए सुरक्षाबल का सर्च अभियान जारी है. जिस इलाके में मुठभेड़ हुई है, वो नक्सलियों की फर्स्ट बटालियन का कार्यक्षेत्र है. 20 दिन पहले UAV की तस्वीरों से यहां बड़ी संख्या में नक्सलियों की मौजूदगी की जानकारी मिली थी.

वहीं CRPF के एडीडीपी ऑपरेशंस जुल्फिकार हंसमुख, केंद्र के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार व CRPF के पूर्व डीजीपी के विजय कुमार और मौजूदा आईजी ऑपरेशंस पिछले 20 दिनों से जगदलपुर, रायपुर और बीजापुर के क्षेत्रों में खुद मौजूद हैं. इसके बावजूद भी इतनी बड़ी संख्या में जवानों का शहीद होना पूरी ऑपरेशनल प्लानिंग पर सवाल खड़े कर रहा है. आखिर कहाँ चूक हुई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने घटना को लेकर दुख व्यक्त किया है. गृह मंत्री शाह ने बघेल से फोन पर बात कर घटना की जानकारी ली. पीएम मोदी ने कहा कि जवानों के बलिदान को कभी नहीं भुलाया जाएगा. ”मेरी संवेदनाएं छत्तीसगढ़ में शहीद हुए जवानों के परिजनों के साथ है. घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना है.