12वीं की बोर्ड परीक्षा होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए ? जानें दोनों के 10-10 बड़े कारण-

12वीं कक्षा के बोर्ड एग्जाम्स को लेकर देशभर के लाखों स्टूडेंट्स अभी भी असमंजस में पड़े हैं. परीक्षाएं रद्द होंगी या आगे कराई जाएँगी सरकार ने इसका कोई फैसला नहीं दिया है. देश के सभी राज्य सरकारों के अपने अलग अलग मत हैं आइये जानते हैं किस राज्य ने क्या कहा ?

किन राज्यों ने क्या कहा ?

सभी राज्यों ने अपने यहाँ परीक्षा कराने के लिए केंद्र सरकार को अपने सुझाव भेज दिए हैं. पत्र के मुताबिक 12 राज्यों ने ये कहा है कि कम समय वाले केवल 3-4 पेपर ही लिए जाएं. और दिल्ली, महाराष्ट्र, झारखंड, राजस्थान समेत 8 राज्यों ने कहा है कि परीक्षा से पहले सभी छात्रों को वैक्सीन दी जाए या परीक्षा रद्द की जाए. बचे हुए राज्यों ने कहा है कि वे बोर्ड में भी CBSE का पैटर्न अपनाएंगे.

छात्रों ने परीक्षा रद्द करने के लिए लिखा पत्र

वहीं CBSE 12वीं की परीक्षा रद्द करने के लिए 297 छात्रों ने भारत के मुख्य न्यायाधीश (CJI) को चिट्ठी लिखी है. चिट्‌ठी में कहा गया है कि CJI मामले में स्वत: संज्ञान लें. पिछले साल की तरह वैकल्पिक मूल्यांकन योजना बनाने के निर्देश दें. कोरोना के कारण कई छात्रों ने परिजनों को खोया है. ऐसे में इस वक्त परीक्षा कराना सही नहीं है. इससे लाखों छात्रों, शिक्षकों, कर्मचारियों और अभिभावकों की जान खतरे में पड़ सकती है.

-----

आइये जानते हैं 12वीं की परीक्षा होनी चाहिए की नहीं होनी चाहिए इसके 10-10 कारण

परीक्षा न होने के कारण

  • कई राज्यों में लॉकडाउन चल रहा है. ऐसे में छात्र अभी परीक्षा केंद्रों वाले स्थानों में नहीं हैं. उनके लिए परीक्षा स्थलों तक पहुंचना मुश्किल होगा.
  • कई छात्र 18 साल से कम उम्र के हैं. जिनको टीका न लगने से उन्हें ज्यादा खतरा रहेगा.
  • कोरोना की दूसरी लहर चल रही है पिछली बार के मुताबिक ये ज्यादा खतरनाक है. ऐसे में परीक्षा कराना ठीक नहीं है.
  • कई राज्यों में कोरोना से गंभीर हालात बने हुए हैं ऐसे में परीक्षा कराना बड़ा खतरा बन सकता है.
  • कोरोना के कारण कई छात्रों ने परिजनों को खोया है. ऐसे में इस वक्त परीक्षा कराना सही नहीं है.
  • परीक्षा कराने से परीक्षा केंद्रों पर भीड़ बढ़ेगी. इससे लाखों छात्रों, शिक्षकों, कर्मचारियों और अभिभावकों की जान खतरे में पड़ सकती है.
  • परीक्षा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग रखना संभव नहीं होगा और बच्चे इससे संक्रमित हो सकते हैं.
  • कोरोना काम में हिस्टॉरिकल रेफ़रेंस के आधार पर बच्चे का मूल्यांकन किया जा रहा है. ऐसे में टॉपर बच्चों का नुक्सान हो जायेगा. इसलिए परीक्षाएं रद्द कराने के लिए छात्र सामने आ रहे हैं.
  • इस समय देश में 2 लाख से भी ज्यादा नए मरीज मिल रहे हैं. ऐसे में कोरोना महामारी के नियंत्रित होने पर ही परीक्षाओं की तारीख़ तय होनी चाहिए. ताकि किसी की जान को कोई खतरा न हो.
  • अलग-अलग जगहों से आने वाले बच्चों का एक साथ आकर परीक्षाएं देना काफी खतरनाक साबित हो सकता है.
  • बच्चे पेपर देने स्कूल जाएंगे तो वहां दोस्तों से भी मिलेंगे. ऐसे में ज़ाहिर सी बात है कि वो हाथ मिलाएंगे और बातें करेंगे. इससे कोरोना फैल सकता है.

परीक्षा क्यों और कैसे होनी चाहिए ? इसके सुझाव-

  • उच्च शिक्षा और बच्चों का करियर निर्धारित करने के लिए 12वीं की परीक्षाएं ज़रूरी हैं. सभी को पास करने का कोई मतलब नहीं है.
  • कुछ राज्य बोर्ड परीक्षा में भी CBSE का पैटर्न अपनाएंगे.
  • सारे पेपर न ले कर कम कम समय वाले केवल 3-4 पेपर लिए जाएं
  • परीक्षाएं उसी स्कूल में आयोजित की जाएँ जहां स्टूडेंट पढ़ते हैं. इससे सभी सुरक्षित रह सकते हैं.
  • परीक्षा तीन घंटे की बजाए डेढ़ घंटे की ही होनी चाहिए.
  • परीक्षा में सवाल ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे मतलब एक प्रश्न के कई उत्तर दिए जाएंगे जिनमें सही जवाब चुनना होगा.
  • जो स्टूडेंट्स कोरोना संबंधी समस्या के कारण परीक्षा नहीं दे पाएंगे, उन्हें आगे इसके लिए मौक़ा दिया जाएगा.
  • ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प भी हमारे सामने हैं. इससे सभी छात्र सुरक्षित रहेंगे.
  • परीक्षा कराने से बच्चों का साल बर्बाद होने से बच सकता है और बच्चों का भविष्य भी खराब नहीं होगा.
  • परीक्षाओं से पहले स्टूडेंट्स को वैक्सीन लगा दी जाए तो कोरोना के खतरे को रोका जा सकता है.

जून के पहले सप्ताह में हो सकता है फैसला

केंद्र सकरार भी इन सभी पक्षों को ध्यान में रखकर किसी नतीजे पर पहुँचने की कोशिश कर रही है. शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने सभी राज्यों से सुझाव देने के लिए कहा था. राज्यों ने भी अपना अपना सुझाव लिखकर भेज दिया है. माना जा रहा है कि जून के पहले सप्ताह तक इस विषय में फैसला ले लिया जाएगा.

-----

2 thoughts on “12वीं की बोर्ड परीक्षा होनी चाहिए या नहीं होनी चाहिए ? जानें दोनों के 10-10 बड़े कारण-

  • May 28, 2021 at 8:42 pm
    Permalink

    Didi aap baccho ke support me kyo nhi video bnati h aur kyo unko support nhi jr rhi h aap ke ek pryash se Kai baccho ke Jaan Bach skti h aakhir aap Marne Ka intajar kr rhi h kya ki bacche mare to aap video bnaye late hone se phle unke support me boliye Didi unko support kriye Mai 12 th CBSE Ka student Hu Mai aapki har video dekhta hu mujhe Aapke vyang bhare bol bahut hi Shi lgte h aap ham bacche ke support me aayiye please 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏

    Reply
    • May 28, 2021 at 10:18 pm
      Permalink

      इस पर बात जरूर की जाएगी..आपके सुझाव के लिए आभार

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *