करारी हार के बाद मायावती ने UP को चार सेक्टरों में बांटा, इनको दी जिम्मेदारी, सपा पर लगाए आरोप

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने यूपी के उपचुनाव में करारी हार के बाद बुधवार को बड़ा फेरबदल किया है. मायावती ने बसपा के भीतर लंबे समय से चल रही जोनल कोआर्डिनेट की व्यवस्था भंग कर दी है.

bsp zonal coordinator system disbanded maywati says samajwadi party is anti muslim
bsp zonal coordinator system disbanded maywati says samajwadi party is anti muslim

मायावती ने कोऑर्डिनेटर, मंडल और जोन व्यवस्था भंग कर सेक्टर व्यवस्था लागू करने का एलान कर दिया है. मायावती ने कार्यकर्ताओं से 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटने को कहा है. और साथ ही यूपी को चार सेक्टर में विभाजित कर दिया है. जिसका फोकस सेक्टर और बूथ कमेटियों को मजबूत करना होगा.

इसके साथ ही मायावती ने दानिश अली को लोकसभा संसदीय दल का नेता घोषित करते हुए सपा पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सपा ने मुस्लिमों को ज़्यादा टिकट देने पर बीजेपी को लाभ मिलने की बात कही थी. मुस्लिम-दलित गठजोड़ से सपा और बीजेपी दोनों ही परेशान हैं. लेकिन मैं और मेरी पार्टी मुस्लिम समाज को अहमियत देने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे.

मायावती ने आरोप लगाया है कि यूपी में विधानसभा आम चुनाव से पहले बसपा का मनोबल गिराने के लिए उप चुनाव हरवाया गया है. मगर बसपा इससे घबराने वाली नहीं है. धारा 370 के नाम पर बसपा से मुसलमानों को दूर नहीं किया जा सकता है. भाजपा और सपा ने भीतरी तौर पर मिलकर बसपा को उपचुनाव में एक भी सीट जीतने नहीं दिया.

बीजेपी और सपा अंदर से उपचुनाव में मिले हुए थे. इसलिए बसपा को सीटों का नुक्सान हुआ मगर बसपा को 17 से 20 प्रतिशत तक वोट मिल रहे हैं, कुछ प्रतिशत और वोट मिल जाए तो ये बाजी पलट सकती है.

मायावती ने यूपी को जिन 4 सेक्टरों में बांटा है वो इस प्रकार हैं-
  • पहला सेक्टर- लखनऊ, बरेली, मुरादाबाद, सहारनपुर और मेरठ मंडल
    पहली टीम- गिरीश चंद जाटव, कमल सिंह, शमसुद्दीन रानी व राजकुमार गौतम
    दूसरी टीम- राम जी गौतम, भीमराव अंबेडकर व रामकुमार कुरील
  • दूसरा सेक्टर- आगरा, अलीगढ़, कानपुर, चित्रकूट और झांसी मंडल
    पहली टीम- धरमवीर, अशोक, आर एस कुशवाहा व लालाराम अहिरवार
    दूसरी टीम- नौशाद अली, चिंतामणि व जितेंद्र संखवार
  • तीसरा सेक्टर- इलाहाबाद, मिर्जापुर, अयोध्या और देवीपाटन मंडल
    पहली टीम- अशोक सिद्धार्थ, अशोक गौतम व जितेंद्र पाल
    दूसरी टीम- दिनेश चंद्र लाल व बहादुर रत्नाकर
  • चौथा सेक्टर- वाराणसी, आजमगढ़, गोरखपुर और बस्ती मंडल
    पहली टीम- मुनकाद अली, सुधीर कुमार भारती व इंदल राम
    दूसरी टीम- घनश्याम खरवार, डॉक्टर मदन राम व राम चंद्र गौतम

1,241 total views, 4 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *