चुनाव में ख़राब प्रदर्शन के चलते माया ने 6 राज्यों के प्रभारी और 2 प्रदेश अध्यक्ष को हटाया

लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में बसपा मुखिया मायावती को समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन के बाद भी दस सीट मिली हैं. इससे बहन जी संतुष्ट नहीं हैं. उनका मानना है की 38 सीटों में से कम से कम आधी तो आनी ही चाहिए थी.

bsp chief mayawati removed six states incharge and two states president
bsp chief mayawati removed six states incharge and two states president

मतलब एक तो अखिलेश यादव की लोकप्रियता का फायदा उठा कर 10 सीटें जीत लीं. और वहीं अखिलेश सिर्फ 5 सीट ही जीत पाएं इतना ही नहीं अखिलेश ने तो अपने घर की ही तीन सीटें गवां दी. मगर बहन जी ने एक बार भी अखिलेश के दर्द को बाँटने की कोशिश नहीं की. और अब 0 से 10 सीटें पाकर भी उनका ज़रा सी भी ख़ुशी नहीं है और अब एक्शन मोड में आ गई हैं.

-----

आज सुबह ही मायावती ने छह राज्यों के लोकसभा चुनाव प्रभारी को हटा दिया है, जिसमें उत्तराखंड, बिहार, झारखंड, राजस्थान, गुजरात व उड़ीसा राज्य शामिल है. और तीन राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष को भी पद से बेदखल कर दिया है. बताया जा रहा है कि बसपा मुखिया मायावती ने लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन पर बड़ी कार्रवाई की है.

मायावती ने दिल्ली में सुरेंद्र सिंह की जगह लक्ष्मण सिंह और मध्य प्रदेश में डीपी चौधरी की जगह रमाकांत पुत्तल को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है. मायावती इन दिनों दिल्ली में हैं. वहीं से माया ये एक्शन ले रही हैं. उन्होंने कल दिल्ली में ही राज्य प्रभारियों और प्रदेश अध्यक्षों के साथ बैठक बुलाई थी. इसमें राज्यवार लोकसभा चुनाव की स्थितियों पर चर्चा की थी. उसी के बाद माया ने ये एक्शन लिया है.

बिहार राज्य के प्रभारी रामअचल राजभर को गुजरात के साथ महाराष्ट्र का प्रभारी बनाया गया है. उत्तराखंड राज्य प्रभारी आरएस कुशवाहा की जगह पर एमएल तोमर को नया प्रभारी बनाया गया है. उड़ीसा-गुजरात के प्रभारी पद से छट्टू राम को हटाकर बिहार-झारखंड का प्रभारी बनाया है.

मायावती कल सोमवार को यूपी के जोन इंचार्ज और जिलाध्यक्षों के साथ ही लोकसभा प्रत्याशियों व नवनिवार्चित सांसदों के साथ बैठक करेंगी. बैठक में शामिल होने के लिए सभी को निर्देश भेज दिया गया है. माना जा रहा है कि कल बैठक में संगठन में फेरबदल को लेकर महत्वपूर्ण फैसला हो सकता है.