जहाज डूब रहा है : संपादकीय व्यंग्य (BJP Ministers MLA Resigns)

PRAGYA KA PANNA
PRAGYA KA PANNA

हाय दईया..डूबती हुई नाव से यात्री भी इत्ती तेज नाही भागत हैं..जित्ती तेज यूपी मा बीजेपी के मंत्री और विधायक बीजेपी का छोड़ि कै भाग (BJP Ministers MLA Resigns) रहे हैं..चिंटू की मम्मी कहीं जैइसे दीवार से छूटने वाली पपड़ी अगली दीवाली तक पुताई का इंतजार करती है..वैइसे ही बीजेपी के विधायक और मंत्री 5 साल से सिर्फ भागने का इंतजार कर रहे थे…कि कब बाबा से पिंड छुड़ाकर भागें..जैसे हर घूरे के दिन आवत हैं..वैसे ही बीजेपी मा 5 साल से कोने में पड़े मंत्री विधायक लोगन के दिन अब आ गए हैं..

जौन बीजेपी के मंत्री विधायक अपनी ही बीजेपी पार्टी के खिलाफ अपनी ही सरकार मा..अपनी ही विधानसभा मा..अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बइठे थे..तब उनका लोड कोई नहीं लिया था..ना योगी आदित्यनाथ सुने थे..ना दूसरे बड़ेक नेता लोग सुने थे..अब उन्हीं विधायक मंत्री लोगन का दिल्ली तक से लोग पुचकार रहे हैं..दुलार रहे हैं..भाग रहे विधायकन का बइठार रहे हैं..कि लल्ला ना जाओ..महीना भर और रुकि जाओ..का करोगे जाके..5 साल से कोने मा पड़े थे..महिना भर और एडजस्ट कर लो..लेकिन बीजेपी के विधायक लोग बहुतै चकड़ चालाक हैं…5 साल बाद गदहा से बाप बनै का मौका आया है..उ ये मौका छौड़ै नहीं रहे हैं..

चिंटू की मम्मी कहीं बीजेपी वाले बर्मा जी की दुल्हिन आचार संहिता लगने के बाद बहुतै खुशियाली मना रही हैं..इत्ता तो मोदी जी वाली थाली नहीं बजाई होंगी..जित्ता पूरे मोहल्ले मा सबकी घंटी (BJP Ministers MLA Resigns) बजा बजा के..बीजेपी वाले बर्मा जी की आजादी की खबर सुना रही हैं..जो बीजेपी वाले बर्मा जी..हुड़ुक चुल्लू बने गुटुरुआ मारे 5 साल से अपनी ही सरकार मा..कोने में बैठे थे..

अब उनके उछल कूद करने का समय आ गया है..अयोध्या में तमाम बीजेपी के गुदड़ी के लालों ने..भगवान राम को महंगे दाम पर प्लाट चिपकाया..लेकिन बीजेपी वाले बर्मा जी..कमीशन तक नहीं खा पाए..शिक्षा मंत्री अपने भाई का एडजस्ट करा दिए थे..बीजेपी वाली बर्मा जी..एक ट्रांसफर पोस्टिंग तक नहीं करा पाए..कोरोना किट फिट मा तमाम लोग माल सकेले हैं..लेकिन बीजेपी वाले बर्मा जी का कोई पूछा तक नहीं..

ना पुल का ठेका पाए..ना नाली का ना खडंजा मा कमीशन खाए..सब चादर ओढ़कर घी पीते थे..जब बीजेपी वाले बर्मा जी की बारी आती थी..तब ना खाऊंगा ना खाने दूंगा वाला भाषण बजा देते थे..सब छोड़ (BJP Ministers MLA Resigns) देव..जो काम एक गलीछाप नेता कर लेता है..उ खनन के काम में अपनी एक ट्रैक्टर टाली तक ना लगवा पाए….बिचारे अपने मुख्यमंत्री का 5 फीट की दूरी से देख तक ना पाए..बर्माइन तो कई बार कहीं..

थू है बर्मा जी की ऐसी नेतागिरी पर..एही लिए भरी जनवारी मा सावन की तरह झूम रहे हैं..मोहल्ले भर मा ऑप्शन ऑप्शन खेल रहे हैं..कौन सी पार्टी ज्वाइन की जाए..यादव जी.. पांडे जी. शर्मा जी. शाक्य जी..मौर्या जी..राजभर जी.. लोगन से पूछि रहे हैं..कहिते हैं मोहल्ला जिधर बताएगा..बीजेपी वाले बर्मा उधर जाएंगे..लेकिन बीजेपी मा ना रहि नहीं पाएंगे..

चिंटू मम्मी कहीं..बीजेपी वाले बर्मा जी 5 साल से रट्टू तोता बने फिर रहे थे..बर्माइन से रोटी भी मांगते थे..तो भी माननीय..आदरणीय..फलाने के मार्गदर्शन में..उनके आशीर्वाद से..जैसे जुमले शुरू में लगा देते थे..हालत ई होई गई थी कि शुलभ शौचालय जाते समय भी कोई पूछ ले..तो कहिते थे कि फलाने जी के मार्गदर्शन में..फलाने के आशीर्वाद से शौचालय जा रहे हैं..हम कहे..बहिनी इतना बड़ा मानसिक गुलाम तो अंग्रेजे भी नहीं बनाए थे..खैर बर्मा जी का आजादी मुबारक हो..

चिंटू की मम्मी कहीं रुकौ बात खत्म ना हुई है..बीजेपी वाले बर्मा जी और बर्माइन पूरे मोहल्ले मा खुशी मना (BJP Ministers MLA Resigns) रहे थे..लेकिन जब से सुने हैं कि वाशिंग मशीन से निकलते ही गिरफ्तारी का वारंट इशू हो गया है तब से बीजेपी वाले बर्मा जी एही सदमें में हैं कि कहीं उनके खिलाफ भी ना कुछ इशू होई जाए..हम कहे बहिनी इतना भी क्या डरना..

चिंटू की मम्मी कहीं..वइसे एक बात है बीजेपी वाले बर्मा जी बहुत दुफुसला टाइप नेता हैं..जब गंगा में लाशें बहि रही थीं..तब मुंह मा दही जमाए बइठे थे..जब कोरोना था..इनकी सरकार झूठ बोल रही थी.. तबो कुछ नाही बोले.. (BJP Ministers MLA Resigns) इनकी सरकार जब इ झूठ बोली की ऑक्सीजन की कमी नाहीं है..और इ खुद ऑक्सीजन के लिए गिड़गिड़ा रहे थे..लेकिन इनका बक्कुर एक बार भी नाहीं फूटा कि का हो योगी जी इतना झूठ मत बोलो..ऑक्सीजन अस्पतालों में खत्म होई गई है..

ई वही बीजेपी वाले बर्मा जी हैं..आज जब चुनाव आया है तो उछलकूद कर रहे हैं…हम तो कहिते हैं..जनता अइसे विधायकन के खिलाफ वारंट इशू करै..और चुनाव मा पूछे कि कहो फलाने जब हम लोग मर रहे थे..जब हम लोग पैदल जा रहे थे..जब हमारा रोजगार चौपट होई गवा था..जब हमारे खेतन मा सांड चर रहे थे..जब हमसे पेट्रोल के नाम पर दिन दहाड़े लूट चल रही थी..जब हमको सेनिटाइज से नहलाया जा रहा था..जब उसी सेनिटाइज से (BJP Ministers MLA Resigns) दलित लड़की को रात में जलाया जा रहा था..

जब हमारे मुस्लिम भाईयों को कोरोना बम कहकर चिढ़ाया जा रहा था..जब सड़क पर बसें बंद करके हमसे उठक बैठक लगवा रहे थे..जब हमारे बेरोजगार लड़की लड़िकवन पर लाठी चल रही थी..जब सांसें उखड़ रहीं थीं..और तुम्हारी सरकार कह रही थी कि ऑक्सीजन बहुत है..जब बात बात पर बुलडोजर निकाले जा रहे थे..जब किसानों को आतंकी कहा जा रहा था..जब किसानों को पीटा जा रहा था..जब सड़क पर कीलें गाड़ी जा रही थीं..जब एंटी रोमियो बताकर भाई बहन को परेशान किया जा रहा था..जब तुम्हारे पुलिसवाले होटलों में और सड़क पर व्यापारियों की हत्या कर रहे थे..जब थानों में जातिवाद हो रहा था..तब तुम कहां थे..

चिंटू की मम्मी कहीं..ना तो तुम लोग तब बोले थे..ना तुम लोग आगे बोल पाओगे..सत्ताओं को गुलामों..तुम्हें जनता ने चुनकर गलती की थी..इसलिए तुम चुनाव से पहले चाहे जितना रंगा सियार बन लो..चाहे जितनी सीट बदल लो..चाहे जितनी पार्टी बदल लो..जनता सब जातनी है पहचान लेगी..हम कहे चिंटू की मम्मी जाने दो..जनता समझदार है..इतना भावुक मत हो..बीजेपी वाले बर्मा जी जैसे हों लेकिन हैं तो अपने ही मुहल्ले के..तो भइया लोगों..दादा लोगों..बहिनी लोगों..फूफा..अम्मा दीदी लोगों हम माफी चाहते हैं..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *