रेप के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी को बीजेपी से मिला जिला पंचायत का टिकट

बीजेपी ने उन्नाव जिले की 51 जिला पंचायत सीटों पर अपने अधिकृत प्रत्याशियों के नामों की घोषणा कर दी है. इन प्रत्याशियों में रेप केस के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी का भी नाम शामिल है.

bjp gives panchayat election ticket to kuldeep sengar wife

संगीता सेंगर को ज़िला पंचायत चुनाव का टिकट

उन्नाव रेप केस के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को ज़िला पंचायत चुनाव का टिकट दिया गया है. कुलदीप सेंगर बीजेपी से विधायक थे, लेकिन रेप केस में दोषी पाए जाने के बाद उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था. इसके साथ ही पूर्व ब्लाक प्रमुख और पूर्व जिलाध्यक्ष को भी समर्थन दिया है. कुलदीप सिंह सेंगर की पत्नी संगीता सेंगर को बीजेपी ने फतेहपुर चौरासी तृतीय क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य का प्रत्याशी बनाया है.

-----

चार बार विधायक रह चुके हैं कुलदीप सिंह सेंगर

-----

मालूम हो कि कुलदीप सिंह सेंगर बांगरमऊ से बीजेपी के टिकट पर चार बार विधायक रह चुके हैं. साल 2017 में उन्नाव के चर्चित रेप केस में कुलदीप सिंह सेंगर आरोपी साबित हुए और उनको गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके बाद उन्हें बीजेपी ने अगस्त 2019 में पार्टी से निकाल दिया था और उनकी विधानसभा की सदस्यता भी समाप्त कर दी गई थी. कोर्ट ने कुलदीप सिंह सेंगर को रेप और अपहरण के मामले में उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई थी.

आनंद आवस्थी और अरुण सिंह को मिला टिकट

वहीं जिला पंचायत सदस्य में संगीता सेंगर के साथ बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष अविनाश चंद्र उर्फ आनंद आवस्थी को सिकंदरपुर सरोसी प्रथम से प्रत्याशी बनाया गया है. नवाबगंज के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अरुण सिंह औरास द्वितीय से टिकट मिला है. जिला पंचायत अध्यक्ष पद के पूर्व प्रत्याशी प्रवेश सिंह उर्फ सिंडीकेट को बिछिया द्वितीय से प्रत्याशी बनाया गया है. कयास लगाए जा रहे हैं कि अगर बीजेपी के समर्थित उम्मीदवारों की जीत हुई और वो बहुमत में आई तो अध्यक्ष के लिए घमासान होना तय माना जा रहा है.

बीजेपी के दिग्गज पूरी ताकत लगाए हैं कि उनके पक्ष का दावेदार ही चुनाव जीते और उसे ही जिला पंचायत अध्यक्ष का टिकट मिले. हालांकि ये तस्वीर 2 मई को साफ हो पाएगी कि कौन जीतेगा और कौन हारेगा.