भूमिपूजन: पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से कैसे लाई गई थी पवित्र मिट्टी और प्रसाद, जानें-

अयोध्या में राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए देश भर के पवित्र स्थानों और नदियों से मिटटी और जल लाया गया था. पूरे विश्व की नजरें अयोध्या पर टिकी रहीं. पर क्या आपको पता है की पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से भी पवित्र मिटटी और जल लाया गया था.

Bhumi Pujan holy soil Brought from Pakistan occupied Kashmir
Bhumi Pujan holy soil Brought from Pakistan occupied Kashmir

पीओके में स्थित पवित्र शारदा पीठ से भी प्रसाद और पवित्र मिट्टी अयोध्या लाई गई थी. कर्नाटक के रहने वाले और सेवा शारदा पीठ के सक्रिय सदस्य अंजना शर्मा मिट्टी लेकर अयोध्या पहुंचे थे. आप ये सोच रहे होंगे की आखिर वहां से प्रसाद और पवित्र मिट्टी आई कैसे क्युकी पीओके में भारतीय नागरिकों को जाने की अनुमति ही नहीं है.

-----

हुआ ये था कि चीन में रहने वाले भारतवंशी वेंकटेश रमन और उनकी पत्नी को चीन के पासपोर्ट से पीओके भेजा गया था. दंपती हॉन्गकॉन्ग से पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की राजधानी मुजफ्फराबाद पहुंचे. इसके बाद वे शारदा पीठ से प्रसाद और पवित्र मिट्टी लेकर हॉन्गकॉन्ग होते हुए दिल्ली आए. यहां उन्होंने अंजना शर्मा को यह मिट्टी सौंप दी.

जिसके बाद अंजना शर्मा प्रसाद और पवित्र मिट्टी लेकर अयोध्या पहुंचे. यहाँ शर्मा ने बताया कि वे शारदा पीठ के मुख्य रविन्द्र पंडित के निर्देश पर आए हैं. अयोध्या पहुंचने पर अंजना शर्मा का जोरदार स्वागत किया गया.

बतादें कि शारदा पीठ पीओके में स्थित है. ये पीठ कश्मीरी पंडितों के लिए तीन प्रसिद्ध पवित्र स्थलों में से एक है. ये नीलम नदी के किनारे है. ये भारत के उरी से करीब 70 किमी दूर है. यहां जाने के लिए दो रूट हैं. पहला मुजफ्फराबाद की तरफ से और दूसरा पुंछ-रावलकोट से. उरी से मुजफ्फराबाद वाला रूट कॉमन है. ज्यादातर लोग इसी रूट से जाते हैं.