VIDEO: यूपी के सिपाही IPS के खेतों में धान काट रहे हैं.. हैरान करने वाली सच्ची घटना

यूपी पुलिस धान काट रही है. यूपी पुलिस के अधिकारी मौज काट रहे हैं. यूपी के लोग दिन काट रहे हैं. और नेता 2019 की फसल काटने की तैयारी कर रहे हैं. बाराबंकी जो अफीम की खेती के लिए जाना जाता है वहां यूपी पुलिस के सिपाही दिहाड़ी मजदूरी पर अपने अधिकारी के खेतों के धान काट रहे हैं. सरकार सिपाहियों को अपराध की जड़ें काटने के पैसे देती है. लेकिन इसी बीच साहब के धान उग आए. पैसे काटने के ही मिलेते हैं इसीलिए साहब ने धान के खेत में उतार दिया और कहा आट डालो. फिर आईपीएस राजेश कृष्ण ने कहा मजदूर कहां से लाएं. हमसे कुछ उखाड़े भले ना उखड़े लेकिन काट तो सकते ही हैं. इसीलिए काट रहे हैं.

barabanki police viral video social media
धान काटते यूपी के सिपाही

साहब के खिलाफ वीडियो बनाने वाला सिपाही अनुशासन हीन तो नहीं है ?

वैसे तो यूपी पुलिस (PAC 10 बटालियन) के जमीर का देहांत पहुत पहले हो चुका है. लेकिन एक सिपाही का जमीर जाग उठा उससे गुलामी देखी नहीं गई. वीडियो बना लिया और वायरल कर दिया. ये वीडियो बता रहा है कि यूपी पुलिस के सिपाही मल्टी टैलेंटेड हैं. वो बीच सड़क पर गोली भी मार सकते हैं. प्रदर्शन भी कर सकते हैं. सिर भी मुंडा सकते हैं साईकिल भी चला सकते हैं. और साहब के खेतों के धान भी काट सकते हैं.

barabanki police viral video social media
यूपी पुलिस (PAC 10 बटालियन)

PAC के जवानों ने धान के खेत में संभाला मोर्चा

यूपी पुलिस के सिपाही इसे शोषण करार दे रहे हैं. वो सब कुछ काट सकते हैं लेकिन धान साहब के खेतों के धान काटना गंवारा नहीं. पुलिस वालों की ऐसी कई फोटो और वीडियो सामने आए हैं. जो ये साबित करते हैं की वे कितनी पीड़ा में हैं. वहीं अब बाराबंकी से एक खेत का वीडियो सामने आया तो पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. जहां साफ देखा जा सकता है कि 6-7 लोग खेत में दिवाली से पहले चूरा कुटाने के लिए खेत में धान काट रहे हैं.

barabanki police viral video social media
आईपीएस राजेश कृष्ण की गुलामी करते सिपाही

आईपीएस राजेश कृष्ण की गुलामी करते सिपाही

इस वीडियो में जो लोग धान काट रहे हैं वो 10 BN PAC बाराबंकी के जवान हैं. ये जितने भी लोग आपको इस वीडियो में नजर आ रहे हैं. ये सभी पीएसी के सिपाही हैं. बाराबंकी के सीओ साहब सिपाहियों से धान कटवाते नजर आ रहे है. अब ये सोचिये की क्या इसी तरह जनता की सेवा होगी ? क्या धान काटने के लिए पीएसी में सिपाहियों की भर्ती की गई थी ? अधिकारी कब तक ऐसे ही सिपाहियों का शोषण करते रहेंगे. जबकि धान काटने के लिए मजदूर होते हैं. लेकिन इन सिपाहियों से ही मजदूरों वाला काम कराया जा रहा है. अब ऐसे में यूपी पुलिस पर कई सवाल खड़े होते है.

barabanki police viral video social media
PAC के जवानों ने संभाला मोर्चा

10 BN PAC बाराबंकी के जवान धान काट रहे हैं

वीडियो 10 बटालियन PAC बाराबंकी का है. जिस वीडियो के साथ ये सब वायरल किया जा रहा है उसके नीचे लिखा है कि ‘आज भी 1861 पुलिस एक्ट के तहत सिपाहियों का शोषण किया जा रहा है. जिसमें ये क्रूर अधिकारी सिपाहियों से धान कटवा रहे है. ये अत्यंत दुःखद और विचारणीय बात है’

धान के खेत में गुलामी से मुठभेड़

यूपी पुलिस अपने अधिकारों के लिए बागी हो चुकी है. सिपाहियों से गुलामी कराने की प्रथा यूपी में नई नहीं है. सब्जी लाना बच्चों को स्कूल से लाना. घर पर ड्यूटी देना. मेमसाहब को मायके से लेकर आना ये सब यूपी पुलिस के सिपाही बड़े चाव से करते आए हैं. लेकिन अब यूपी में बागवत का सीजन चल रहा है. कोई गुलामी करने को तैयार नहीं है. सारे सिपाहियों का स्वाभिमान जाग चुका है. आईपीएस राजेश कृष्ण के खिलाफ सिपाहियों से धान कटवाने वाले मामले होगा कुछ नहीं क्योंकि यूपी के डीजीपी ओपी सिंह किसी भी एक्शन के लिए नहीं जाने जाते. इससे पहले भी कई सिपाही सईकिल चलाते घूम रहे हैं. कोई सिर मुंडाकर घूम रहा है. कोई हेलमेट लगाकर विरोध कर रहा है. यूपी के सिपाही धान के खेतों में गुलामी से मुठभेड़ कर रहे हैं और गन्ने के खेतों में असली मुठभेड़ के समय मुंह से ठांय-ठांय की आवाज निकाल रहे हैं.

देखें वीडियो:-

 

कबतक होगा पुलिस सिपाहियों का शोषण ?

सिपाहियों से कटवाई जा रही है खेतों की धान, सीओ साहब और आईपीएस राजेश कृष्ण भी हैं मौजूद. देखें वायरल वीडियो-

Posted by Ulta chasma uc on Sunday, 28 October 2018