राम मंदिर निर्माण के लिए 25 हज़ार सैनिकाें की भर्तियां शुरू, पदाधिकारियों को दिए निर्देश

Ulta Chasma Uc  :  राम मंदिर का मुद्दा गर्माया हुआ है. आरएसएस, विहिप समेत अन्य अनुषांगिक संगठन आंदोलन करने को तैयार हैं. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण को लेकर सक्रिय विहिप ने अपने युवाओं के संगठन बजरंग दल में कार्यकर्ताओं की भर्तियां शुरू करा दी हैं. शनिवार देर शाम निराला नगर सरस्वती शिशु मंदिर में आयोजित बैठक में 115 यूपी-उत्तराखंड के प्रमुख पदाधिकारी शामिल हुए.

Bajrang Dal recruits 25 thousand soldiers for Ram temple
अवध प्रांत में ही 25 हजार भर्तियां

अस्त्र-शस्त्र का प्रशिक्षण

हिन्दू जागरण मंच के मीडिया प्रभारी जगदीश ने बताया कि ये बैठक अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर सरकार पर कानून बनाने के लिए दबाव बनाने के लिए की गई है. इस बैठक में सभी पदाधिकारियों को उनकी जिम्मेदारी का पालन करने के लिए निर्देश दिए गए है. अभी तक 10 हजार कार्यकर्ता भर्ती किए जा चुके हैं. बजरंग दल के इन कार्यकर्ताओं को त्रिशूल दीक्षा (अस्त्र-शस्त्र का प्रशिक्षण) भी दिलाया जायेगा.

सिर्फ अवध प्रांत में ही 25 हजार भर्तियां करने का लक्ष्य रखा गया है. पदाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए संकल्प और प्रतिज्ञा कराने के लिए 100 स्थानों पर कार्यक्रम तय किए गए हैं. यह कार्यक्रम गीता जयंती 18 दिसंबर तक होंगे. बजरंग दल के प्रतिज्ञित कार्यकर्ता आवश्यकता पड़ने पर किसी भी समय पर मंदिर निर्माण हेतु पूज्य संतों के आदेश पर अयोध्या कूच कर सकते हैं.

-----

कांग्रेस मंदिर निर्माण की मुख्य बाधा

भारत में अस्त्र-शस्त्र प्रशिक्षण की परंपरा रही है. धर्म और संस्कृति की रक्षा के लिए यह कार्यक्रम किया जाता है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कांग्रेस पर हमला करते हुए उसे राम मंदिर निर्माण की मुख्य बाधा करार दिया. योगी ने कहा, ‘कांग्रेस अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराना नहीं चाहती. और जो पार्टी भगवान राम के लिए नहीं है वह हमारे लिए भी किसी काम की नहीं है. कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ही सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी कि राम मंदिर मामले पर साल 2019 के बाद सुनवाई हो.

-----

Web Title :  Bajrang Dal recruits 25 thousand soldiers for Ram temple

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.