11 प्रतिशत यादव अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बना सकते हैं,तो 9 प्रतिशत मुस्लिम क्यों नही बना सकता अपना मुख्यमंत्री

Asaduddin Owaisi : अपने दो दिवसीय दौरे पर आए ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बाराबंकी पहुंच मुस्लिमों वोटरों से AIMIM के साथ आने को कहा… ओवैसी ने रैली के दौरान कहा कि हम केवल 2022 के यूपी विधान सभा चुनाव की तैयारी नहीं कर रहे . हम उत्तर प्रदेश में एक मजबूत पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आ रहे हैं. ओवैसी ने कहा कि ओवैसी ने सपा के यादव ‘वोट बैंक’ का उदाहरण देते हुए मुसलमानों से AIMIM के साथ आने की अपील की हैं.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा क‍ि उत्तर प्रदेश में 2014 से अब तक सिर्फ मॉब लिंचिंग के नाम पर मुसलमानों को ही सिर्फ मारा ही जा रहा हैं… 2014 के बाद जब से बीजेपी आई हैं तब से पुलिस मुसलमानों पर जुल्म करने वालों को गिरफ्तार तो करती हैं. लेकिन पुलिस सत्ता के दबाव में अपराधियों को 24 घंटे के अंदर ही छोड़ भी देती हैं.. क्योकि यूपी में अपराध करने वालों को पता हैं कि थोड़ी देर बीजेपी की सरकार उन्हें बचा लेगी…

http://ultachasmauc.com/bharat-yadav-biography/

मोदी सरकार में बनाए गए तीन तलाक पर हमला बोलते हुए ओवैसी ने कहा कि तीन तलाक का कानून बनाकर भाजपा सरकार ने मुस्लिम मर्दों को और मजबूत कर दिया हैं. ओवैसी ने कहा कि लेकिन सरकार ने उन लोगों के खिलाफ कानून लाने से डरती हैं, जो लोग अपनी बीवियों को अपने साथ नही रखते हैं.उनकी बीवियां दर-दर की ठोकरे खा रही हैं. AIMIM चीफ ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा सरकार सिर्फ मुस्लिमों में भ्रम फैलाने का काम कर रही हैं.

http://ultachasmauc.com/brahman/

ओवैसी ने कहा कि 17 मई को बाराबंकी में 100 साल पुरानी मस्जिद को अराजकतत्वों ने तोड़ दिया. लेकिन बाराबंकी एसडीएम जिनका प्रमोशन कर अब जिला विकास अधिकारी बना दिया गया हैं. उन्होने हमारे सैकड़ों लोगों को जेल भेज दिया था, कई लोगों पर एनएसए के तहत कार्रवाई की. एसडीएम ने 100 साल पुरानी मस्जिद को बिना किसी नोटिस के गिरवा दिया. मैं ऐसे कामों को राजनीतिकरण की ही बात बोलूंगा.तोड़ी गई मस्जिद किसी के बाप की जागीर नही थी क्या, तोड़वा दिया गया. लेकिन उस समय समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने मस्जिद तोड़ने के खिलाफ किसी ने अवाज नही उठाई.

-----

बाराबंकी में ओवैसी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अब तक मुस्लिम केवल सेकुलरिज्म के नाम पर वोट डालते आए हैं. सपा-बसपा को वोट डालते आए हैं, लेकिन क्या ये लोग कभी मुसलमानों का नाम लेते हैं. ओवैसी ने कहा कि सभी मुस्लमान भाई मेरे साथ आएं, हमं अपने मुस्लिम भाइयों की आवाज को बुलंद करेंगे.ओवैसी ने कहा कि अब यूपी में 2022 में चुनाव होने को हैं , इसलिए सभी लोग मुसलमानों को लुभाने के लिए मीठी-मीठी बातें करेंके लुभाने में लगे हैं… लेकिन अब मुसलमानों को अपना नेता बनने का समय आ गया है. अब मुसलमानों को जंजीर में बंधकर रहने की जरूरत नहीं. मुसलमान भाई अब खुद सामने आएं और अपनी ताकत का एहसास कराएं.

http://ultachasmauc.com/farmers-2/

ओवैसी ने कहा कि सपा, बसपा और भाजपा सभी पार्टियों को कव्वाल पार्टी कहकर कहा कि जब हिंदुओं में अलग-अलग जाति के लोग सभी पार्टियों को वोट कर सकते हैं तो उन्हें वोट कटवा नहीं कहा जाता. फिर हमें वोट कटवा क्यों कहा जाता है. जब उत्तर प्रदेश में 11 प्रतिशत यादव अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बना सकते हैं, तो उत्तर प्रदेश का 19 प्रतिशत मुस्लिम क्यों नही किसी मुसलमान को मुख्यमंत्री क्यों नहीं बना सकते.

एमआईएमआईएम के अध्यक्ष सांसद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि मुसलमानों को अब जागरूक होना चाहिए और किसी के पीछे चलने के बजाय खुद को नेता के रूप में स्थापित करने की कोशिश करनी चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *