CM योगी को टक्कर देने की तैयारी में विपक्ष, राजभर से मिले ओवैसी, कहा- नाम बदलने नहीं आया हूं

लखनऊ पहुंचे ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक होटल में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) अध्यक्ष और योगी सरकार के सहयोगी रहे ओम प्रकाश राजभर से मुलाकात की.

Asaduddin Owaisi Meets Om Prakash Rajbhar In Lucknow
Asaduddin Owaisi Meets Om Prakash Rajbhar In Lucknow

कहा जा रहा है कि ओवैसी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए यहां गठजोड़ के नए समीकरण तलाशने आए हैं. ओम प्रकाश राजभर से मुलाकात के दौरान ओवैसी ने बीजेपी पर तंज कस्ते हुए कहा, ‘मैं नाम बदलने नहीं, दिलों को जीतने आया हूं. दरअसल, हैदराबाद नगर निगम चुनाव में सीएम योगी ने हैदराबाद का नाम भाग्य नगर करने का वादा किया था.

कयास लगाया जा रहा है कि ओवैसी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (प्रसपा) के अध्यक्ष शिवपाल यादव से भी मिल सकते हैं. बतादें कि 2017 में उत्तर प्रदेश की 34 सीटों पर ओवैसी ने अपने उम्मीदवार उतारे थे, लेकिन उन्हें एक भी सीट नहीं मिल पाई थी. लेकिन हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में ओवैसी की पार्टी को पांच सीटें मिलीं है. इससे उनका हौसला बढ़ गया है और अब वे उत्तर प्रदेश पर फोकस बढ़ा रहे हैं.

वहीं इससे पहले आम आदमी पार्टी ने यूपी में 2022 में विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की है. अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि AAP वर्ष 2022 में होने वाली उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2020 में हाथ आजमाएगी. यानी 403 विधानसभा सीटों वाले यूपी में AAP भी एंट्री करने जा रही है. केजरीवाल ने कहा था कि ‘यूपी के लोग दिल्ली क्यों आ रहे हैं? ऐसा इसलिए क्योंकि वहां सुविधाएं नहीं हैं. अगर दिल्ली में सुविधाएं तैयार की जा सकती है तो UP में ऐसा क्यों नहीं हो सकता. UP ने अब तक गंदी राजनीति देखी है. ऐसे में अब उसे नया मौका मिलना चाहिए.

2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब डेढ़ साल से भी कम का समय बचा है. इस वजह से सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस ने सक्रियता बढ़ा दी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *