अपर्णा ने किया CAA, NRC और NPR का समर्थन, कहा- राजनीतिक मुद्दा न बनाएं पहले पढ़ लें

देश में नागरिकता संशोधन कानून (CAA), NRC और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) को लेकर बवाल मचा हुआ है. समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव इसका जोरदार विरोध कर रहे हैं. और बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं.

Aparna yadav supports CAA NRC and NPR says Do not make political issue
Aparna yadav supports CAA NRC and NPR says Do not make political issue

अखिलेश यादव ने साफ़ कह दिया है कि हम NPR का फॉर्म नहीं भरेंगे. ये बीजेपी वाले तय नहीं कर सकते हैं कि हम भारतीय हैं या नहीं. NPR नहीं रोजगार चाहिए. विशेषज्ञों का कहना है कि अर्थव्यवस्था आईसीयू में पहुंच गई है. अन्याय इतना बढ़ गया है कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट तक नहीं दे रहे हैं. महात्मा गांधी ने अपने पहले आंदोलन में कागजात जला दिया था. हम भी ऐसा ही करेंगे.

वहीँ दूसरी तरफ मुलायम सिंह यादव की छोटी बहु अपर्णा यादव ने CAA, NRC और NPR का खुलकर समर्थन कर दिया है. उन्होंने मीडिया को दिए एक बयान में कहा है कि लिबरर और लेफ्टीस जो पार्टियां हैं मुझे नहीं लगता है की इसपर किसी भी तरह की राजनीति होनी चाहिए और जो अराजक तत्व हैं वहीँ लोग CAA, NRC और NPR को गलत तरह से फैला रहे हैं.

अपर्णा ने आगे कहा कि जो भारत का है उसको तो कोई परेशानी ही नहीं है. उसमें कोई हिन्दू मुसलमान कर ही नहीं रहा है. कोई कुछ नहीं बोल रहा है. मुझे लगता है कि इस बिल को आत्मसाथ करना चाहिए. ये बिल ये नहीं कह रहा है कि हम मुसलमानों को कोई जगह नहीं देंगे. आप असम में आंकड़े चेक करिये की कितने लोगों को यहाँ जगह दी गई है.

अपर्णा ने CAA, NRC और NPR को लेकर अफवाह फैलाने वालों को साफ़ साफ़ कह दिया कि पहले बिल के बारे में पढ़े फिर कुछ बोलें. इसको राजनीतिक मुद्दा न बनाइये ये देश का मामला है. हम देश के साथ हैं इसके लिए अगर लाइन भी लगानी पड़ी तो लगा लेंगे.

अपर्णा के इस बयान को बीजेपी यूपी के प्रदेश प्रवक्ता शलभमणि त्रिपाठी ने ट्वीट करते हुए समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा कि सैल्यूट अपर्णा यादव, CAB, NPR और NRC पर अराजक तत्वों की राजनीति बेनक़ाब करने के लिए, कथित समाजवादियों, बीजेपी की चिंता छोड़ो, अब तो आदरणीय मुलायम सिंह यादव जी की बहू अपर्णा यादव ने भी नसीहत दे दी है – थोड़ा पढ़ा लिखा भी करो

1,698 total views, 2 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *