वायुसेना आज पठानकोट एयरबेस पर तैनात करेगी 8 ‘अपाचे हेलिकॉप्टर’, PAK में मचा हड़कंप

भारत-पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारतीय वायुसेना आज मंगलवार को पठानकोट एयरबेस पर आठ अपाचे हेलिकॉप्टरों को तैनात करेगी. कल सोमवार को अमेरिका से 8 अपाचे हेलीकॉप्टर भारत पहुँच चुके हैं.

apache helicopter will join indian airforce inducted at pathankot airbase
apache helicopter will join indian airforce inducted at pathankot airbase

कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही पाकिस्तार लगातार युद्ध की धमकियां देते आ रहा है. हालही में उसने एक मिसाइल का भी परिक्षण किया है. मगर भारत पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है. अपाचे के आने से भारत को दुश्मन के खिलाफ एक ताकतवर हथियार मिल जाएगा. पठानकोट एयरबेस पाकिस्तानी सीमा के करीब स्थित है. वायुसेना के अधिकारियों ने बताया कि अपाचे हेलिकॉप्टरों की तैनाती के लिए लॉन्चिंग समारोह का आयोजन कराया जाएगा, जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ शामिल होंगे.

-----

अपाचे का इस्तेमाल दुश्मन के टैंक दस्तों, गाड़ियों, ट्रेनिंग कैम्प पर अचूक हमले के लिए किया जा सकता है. ये दुनिया के सबसे अच्छे अटैक हेलीकाप्टर में गिना जाता है. अपाचे की पहली स्क्वाड्रन के पहले कमांडिंग अफसर ग्रुप कैप्टन एम शायलू होंगे. वहीं अपाचे की दूसरी स्क्वाड्रन असम के जोरहाट में तैनात होगी. संभावना है कि 2020 तक सभी अपाचे भारतीय वायुसेना को मिल जाएंगे.

अपाचे हेलीकॉप्टर 30 मिमी की मशीनगन से लैस है जिसमें एक बार में 1200 तक राउंड हो सकते हैं. इसके अलावा इसमें हथियार के तौर पर हाइड्रा अनगाइडेड रॉकेट लगा होता है जो जमीन के किसी भी निशाने पर अचूक वार करता है. अपाचे 150 नॉटिकल मील की रफ्तार से उड़ान भर सकता है. मतलब अगर दुश्मन हवा में जबरदस्त रफ्तार भाग रहा है तो अपाचे उसे पकड़ने में मददगार है.

वायुसेना ने 22 अपाचे हेलिकॉप्टरों के लिए सितंबर 2015 में अमेरिकी सरकार और बोइंग लिमिटेड के साथ अनुबंध किए थे. बोईंग द्वारा 27 जुलाई को 22 हेलिकॉप्टरों में से पहले चार को वायुसेना को सौंप दिया गया था. 2020 तक भारतीय वायुसेना 22 अपाचे हेलिकॉप्टर के बेड़े को संचालित करेगी.

वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपाचे हेलिकॉप्टर के आने से वायुसेना की लड़ाकू क्षमताओं में काफी वृद्धि होगी. इस हेलिकॉप्टर को भारतीय वायुसेना की भविष्य की आवश्यकताओं के अनुरूप बनाया गया है.

8 अपाचे हेलिकॉप्टरों की तैनाती देखकर पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है और पाकिस्तान के अब सुर भी बदल गए हैं. सोमवार को पाकिस्तान के पीएम इमरान खान जो गीदड़ भबकी दे रहे थे अब उन्होंने अपने सुर बदलते हुए कहा है की परमाणु हमले से दोनों देशों के साथ साथ दुनिया को भी खतरा है. इसलिए हम नहीं चाहते की भारत पाकिस्तान के बीच कोई युद्ध हो. हम अपनी तरफ से कोई पहल नहीं करेंगे.