योगी को चुनौती देने वाले अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) को जेल.. AMITABH THAKUR ARRESTED

AMITABH THAKUR : पल्लेदार आलू की बोरी भी अइसे नहीं उठाते जैसे लखनऊ में पूर्व आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर को उनके ही पुराने जूनियर पुलिसवाले उठाकर ले गए…पुलिस वालों से ना दोस्ती अच्छी होती है और ना दुश्मनी..योगी आदित्यानाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान करने वाले जबरन रिटायर कर दिए गए IPS अफसर अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) को पुलिस वाले टांग ले गए..सही बता रहे हैं..कंधे पर टांग ले गए..चप्पलौ नहीं पहनै दिए..

PRAGYA KA PANNA
PRAGYA KA PANNA

अमिताभ ठाकुर बिचारे कहिते रहे इस तरह नहीं जाएंगे..अइसे नहीं जाएंगे..लेकिन अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) टांग लिए गए..पुलिस में इतने बरस रहने के बाद यूपी की सेवा करने के बाद अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) को अपने ही महकमे के पुलिसवालों ने ये इज्जत दी है..कानून तो सबके लिए बराबर होता ही है..अमिताभ ठाकुर कुछ किए होंगे तो धरे ही जाएंगे..

लेकिन सच में पुलिसवाले किसी के नहीं होते हैं..अपने ही डिपार्टमेंट के आदमी को इज्जत नहीं दे पाए..इनसे अच्छे तो बस कंडक्टर होते हैं कम से कम लॉग रूट पर बस चलाते समय एक दूसरे को इशारे इशारे में इज्जत देते हैं..कहां पर आरटीओ वाला खड़ा है बताते हुए चलते हैं…

http://ultachasmauc.com/rajbhar/

खैर अमिताभ ठाकुर टांगे क्यों गए हैं… ये सबको मालूम है लेकिन आधिकारिक तौर पर अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) को उठाने की वजह ये है कि इन पर आरोप है कि इन्होंने मतलब अमिताभ ठाकुर दुष्कर्म के आरोपी बसपा सांसद अतुल राय का सहयोग कर रहे थे..दुष्कर्म पीड़िता और उसके दोस्त मुकदमें के गवाह सत्यम राय ने सुप्रीम कोर्ट के बाहर 16 अगस्त को वीडियो बनाया था..

-----

जिसमें अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) पर आरोप लगाया था..इसके बाद दोनों ने आत्मदाह करने की कोशिश की..गंभीर हालत में अस्पताल मं भर्ती कराया गया..जहां 21 मई को गवाह सत्यम राय और 25 मई को दुष्कर्म पीड़िता की मौत हो गई..उसके बाद ही अमिताभ ठाकुर धरे गए..और जेल भेज दिए गए हैं..

http://ultachasmauc.com/what-is-taliban-afganistan-issue/

दोस्तों जो लोग अमिताभ ठाकुर को नहीं जानते उनको बताए देते हैं..अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) गऊ किस्म के बागी IPS अफसर थे..योगी सरकार में जबरन कह दिया गया कि अइसा है बहुत कर लिया पुलिस की नौकरी अब अपना कोई काम धंधा देखो..अब आप रिटायर हैं…इसीलिए अमिताभ ठाकुर अपने घर की नेम प्लेट पर अपना नाम जबरिया रटायर आईपीएस अफसर लिखते हैं..

योगी सरकार के इस रवैये से खीझकर अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) ने कह दिया कि योगी आदित्यनाथ को मैं चुनौती देता हूं..योगी आदित्यनाथ यूपी की धरती पर जहां से भी चुनाव लड़ेंगे मैं वहां से उनके खिलाफ चुनाव लड़ूंगा..

http://ultachasmauc.com/juhi-singh-mahila-sabha/

अब अमिताभ ठाकुर (AMITABH THAKUR) योगी आदित्यनाथ को चुनौती ना दिए होते तो..अतुल राय वाले केस में नाम आने के बाद भी पुलिस इस तरह से नहीं उठाती..लोग कहते हैं पुलिस उठा ले गई उठा ले गई…किसी को कभी उठाते हुए नहीं देखा है..तो अमिताभ ठाकुर को उठाते हुए वीडियो देख लेना..यूट्यूब गाइडलाइन्स की वजह से वीडियो हम नहीं दिखा रहे हैं..कहीं मिल जाए तो जरूर देख लेना..अइसे ही उठाती है..

दोस्तों प्रज्ञा के पन्ने पर जल्दी से वन मिलियन कर दीजिए..और मुझे ट्विटर पर फॉलो जरूर कीजिए..@PRAGYALIVE नाम से खोजिए और झट से फॉलो कर लीजिए..क्योंकि साथ रहेंगे तो सच को देर सबेर समर्थन मिलता रहेगा..

Disclamer- उपर्योक्त लेख लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार द्वारा लिखा गया है. लेख में सुचनाओं के साथ उनके निजी विचारों का भी मिश्रण है. सूचना वरिष्ठ पत्रकार के द्वारा लिखी गई है. जिसको ज्यों का त्यों प्रस्तुत किया गया है. लेक में विचार और विचारधारा लेखक की अपनी है. लेख का मक्सद किसी व्यक्ति धर्म जाति संप्रदाय या दल को ठेस पहुंचाने का नहीं है. लेख में प्रस्तुत राय और नजरिया लेखक का अपना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *