कश्मीर में बढ़ती हुई हत्याओं पर अमित शाह (Amit Shah) ने पाकिस्तान को चेताया, पाकिस्तान पर फिर से हो सकती है सर्जिकल स्ट्राइक..

अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे पाकिस्तान को गृहमंत्री अमितशाह (Amit Shah) ने खुली चेतावनी दे दी है..गृहमंत्री अमित शाह ने कहा अगर पाकिस्तान ने अपनी हरकतें बंद नहीं की और कश्मीर में जो आम नागरिकों की हत्याएं हो रही है उस खेल को बंद नहीं किया तो उस पर फिर से सर्जिकल स्ट्राइक किया जा सकता है..अमित शाह ने पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक की याद दिलाते हुए अमित शाह कहते हैं..

सर्जिकल स्ट्राइक ने ये साबित कर दिया है कि अब हम हमले बर्दाश्त नहीं करेंगें..और अगर पाकिस्तान नहीं मानता है तो और भी सर्जिकल स्ट्राइक होगें..पाकिस्तान आम लोगों की हत्या करवाकर जम्मू-कश्मीर में जड़ जमाने की कोशिश कर रहा है..अभी कुछ दिनों पहले ही आतंवादियों ने कई मासूम निर्दोष लोगों की जान ले ली है..इसके अलावा इन आतंकवादियों ने सेना पर भी हमला किया था..पाकिस्तान के इस तरह के खूनी खेल में पूरा देश उबल रहा है..

बहुत सारे लोग तो आतंकवादियों को तगड़ा जवाब देने के लिए कह रहें हैं..अमित शाह (Amit Shah) कहते हैं अगर बात सेना की करें तो सेना ने घाटी में आतंकवादियों को जबरदस्त चोट भी दी है..भारतीय सेना ने आतंकियों ढूंढ-ढूंढ कर मौत की सुलाने के लिए एकदम तैयार बैठी है..दिल्ली और कई राज्यों से कुछ आतंकियों को जिंदा पकड़ा गया है..पकडे गए आतंकवादियों ने जब सब कबूल कर लिया और इसके बाद पाकिस्तान का पूरा चिट्ठा पूरी दुनिया में खुल गया है

अमित शाह गोवा में थे..और वहां पर अमित शाह (Amit Shah) ने गोवा के “नेशनल फाॅरेंसिक साइंसेज यूनिवर्सिटी” की आधारशिला रखते हुए पाकिस्तान को बहुत ही कड़े शब्दों में चेताया कि पीएम मोदी और रक्षामंत्री मनोहर पार्रिकर की देखरेख में किया गया सर्जिकल स्ट्राइक एक महत्वपूर्ण कदम था..पाकिस्तान को ये मैसेज भेजा जा चुका है..की अब कोई भी भारतीय सीमाओं को परेशान नहीं कर सकता है..

पहले एक समय था जब बात करने का समय था..लेकिन अब सिर्फ निर्णय लेने का समय है..पठानकोट और गुरदासपुर में जो आतंकी हमले हुए.. उसके बाद सितंबर 2016 में भारत ने पाकिस्तना पर सर्जिकल स्ट्राइक किया था..पाकिस्तान में जो आतंकवादियों के कैंप बने थे..उन कैंपों को भारत ने खत्म कर दिया था..उरी में जो हमला हुआ उसमें 11 दिन बाद 29 सितंबर 2016 को भारत ने पाकिस्तान में घुसकर भारत ने गहरी चोट पहुंचाई थी..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *