अमर सिंह ने RSS के नाम की अपनी 12 करोड़ की पैतृक संपत्ति, मोदी को दिया जीत का वरदान

राज्यसभा सांसद अमर सिंह यूपी में आजमगढ़ के लालगंज तहसील के तरवां में रहते हैं. बुधवार को अमर सिंह ने एक बड़ा फैसला किया है. उन्होंने अपनी 12 करोड़ की पैतृक संपत्ति को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अनुषांगिक संगठन राष्ट्रीय सेवा भारती के नाम कर दिया है.

amarsingh donated parental property to seva bharti
amarsingh donated parental property to seva bharti

अमर सिंह के साथ उस समय सेवा भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री ऋषिपाल सिंह भी मौजूद थे. सुबह ही राज्यसभा सांसद अमर सिंह आजमगढ़ जिले के तहसील लालगंज उप निबंधन कार्यालय में पहुंचे. यहां उन्होंने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि, हम सेवा भारती को धन्यवाद देंगे, क्योंकि सेवा भारती ने मेरे समर्पण के भावना को स्वीकार किया. जिसके कारण मुझे अपने पिता के नाम को अनंतकाल तक अमर रखने का मौका मिला.

अमर सिंह ने देश की सियासत पर बोलते हुए कहा कि, इस समय राहुल व नरेंद्र मोदी देश के दो बड़े नेता हैं. और उदाहरण के लिए आप मध्यप्रदेश का चुनाव देख सकते हैं. जहां बीजेपी एक लाख वोट पाकर भी हार गई. कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी पर बोलते हुए अमर सिंह ने कहा कि, प्रियंका गांधी वाड्रा से मेरा व्यक्तिगत सम्बंध है. प्रियंका से मेरी मित्रता है. मैं उनसे प्रेम करता हूं. राजनीति में सबको आने का अधिकार है. लेकिन दिल्ली अभी दूर है. मैं उनके ऊपर कोई टिपण्णी नहीं करुंगा.

प्रियंका की तारीफ करते हुए अमर ने कहा कि वे भारतीय मूल की प्रखर और मेहनती महिला हैं. अमर ने प्रियंका गांधी को यशस्वी होने का आशीर्वाद भी दिया, मगर लोकसभा चुनाव जीत के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को ही वरदान दिया. अमर के करीबी वीरभद्र प्रताप सिंह ने बताया कि 23 फरवरी को कानपुर में आरएसएस का एक कार्यक्रम है जिसमें राज्यसभा सांसद अमर सिंह मुख्य अतिथि और उप मुख्यमंत्री दिनेश चंद्र शर्मा विशिष्ट अतिथि के रूप में भाग लेंगे.

सपा बसपा गठबंधन पर अमर ने बोलते हुए कहा कि बबुआ की घर वापसी होगी और मायावती की तुलना योगमाया से की. उन्होंने कहा कि बसपा एक अवसरवादी पार्टी है, जहां मौका मिला उन्हीं के साथ हो लिए.