अमर सिंह ने मुलायम की तीनों बहुओं पर उठाये सवाल, अखिलेश पर लगाए आरोप

राज्यसभा सदस्य अमर सिंह एक बार फिर अपने बयान से चर्चा में आ गए हैं. अमर सिंह मुलायम सिंह को कोसने का एक भी मौका नहीं छोड़ते हैं. इस बार तो मोदी सरकार की ओर से सवर्णों को दिए गए आरक्षण को लेकर उन्होंने मुलायम की बहुओं पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

amar singh comment on mulayam singh yadav
amar singh comment on mulayam singh yadav

दरअसल संसद में सपा सांसद रामगोपाल यादव ने सवर्णों के आरक्षण के खिलाफ टिप्पणी कर दी थी. उसी पर अमर सिंह गुस्सा गए और सख्त तेवर में कहा कि मुलायम सिंह यादव के परिवार में तीन बहू सवर्ण परिवारों की ही हैं. जब मुलायम को सवर्णों की बेटियों को अपनी बहू बनाने में परेशानी नहीं है तो फिर सवर्णों को आरक्षण देने पर इतनी नफरत क्यो हो रही है.

गठबंधन पर बोले अमर
-----

सपा बसपा में हुए गठबंधन पर अमर सिंह ने कहा कि सपा-बसपा का गठबंधन मौकापरस्त. बीजेपी को अकेले नहीं हरा सकते इसलिए दोनों ने गठबंधन कर लिया है. अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम की कुर्बानियों और संघर्ष को किनारे रखकर ये गठबंधन किया है. लेकिन बीजेपी का सपोर्ट करते हुए अमर सिंह ने दावा किया है कि इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियां जीतेंगी और बाकी सभी दल हारेंगे.

मुलायम पर दर्ज है मुकदमा

अमर सिंह ने कहा की सपा-बसपा के बीच 1995 में गेस्ट हाउस कांड हुआ था. जिसमें मायावती ने मुलायम के खिलाफ मुकदमा लिखा दिया था. जो अभी भी वापस नहीं लिया गया है. तो अब गठबंधन के बाद क्या बीएसपी सुप्रीमो मायावती दर्ज कराए गए मुकदमे को वापस लेंगी. अगर अखिलेश ही चाहते तो वो अपनी सरकार में रहते ही इस मुक़दमे को निरस्त करा लेते मगर उन्होंने ऐसा नहीं किया. अब माया से अखिलेश ने गठबंधन कर लिया है. तब भी अखिलेश कुछ नहीं कर पा रहे हैं.

जीएसटी को लेकर अमर सिंह ने कहा कि मोदी सरकार पर जीएसटी को लेकर सवाल उठाए जाते हैं, लेकिन सबको पता है कि जीएसटी बीजेपी की नहीं कांग्रेस की देन है. उन्होंने कहा कि मेरी प्रतिबद्धता मोदी के साथ है. मैंने राजनीति बहुत कर ली अब राष्ट्रनीति करूंगा.