अखिलेश योगी सरकार को देंगे अपनी ये वाली ‘ज़मीन’, बस एक बार हाँ कर दें योगी-

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को कुंभ पहुंच कर संगम में आस्था की डुबकी लगाई. अखिलेश की इस डुबकी से बीजेपी का हिन्दू हिन्दू कहने का गुरुर भी टूट गया. आज अखिलेश ने संगम में स्नान करके ये बता दिया की समाजवादी पार्टी भी आस्थावादी और हिंदुत्ववादी पार्टी है.

akhilesh yadav visit kumbh prayagraj 2019 comment on yogi government
akhilesh yadav visit kumbh prayagraj 2019 comment on yogi government

कुंभ में भी अखिलेश में बीजेपी को नहीं छोड़ा. योगी सरकार पर तंज कस्ते हुए कहा- राजा हर्षवर्धन ने कुंभ मेले में अपना सब कुछ दान कर दिया था. ऐसे ही योगी सरकार को करना चाहिए और जो अकबर का किला है उसे इस कुंभ में दान कर, जनता के लिए खोल देना चाहिए. उन्होंने ये भी कहा कि अगर सेना को रखने में दिक्कत हो रही है तो हमारे पास चंबल क्षेत्र में बहुत जमीन पड़ी है, सेना को जहां रखना हो, ये जमीन मैं मुफ्त में देने को तैयार हूं.

अखिलेश यादव ने कहा कि योगी का कुंभ तभी सफल माना जायेगा जब युवाओं को नौकरी और किसान सुखी रहेंगे. किसान आवारा पशुओं से परेशान हैं. उनकी फसल बचाने के लिए योगी कुछ नहीं कर रहे हैं. अखिलेश ने योगी सरकार से अपील किया कि अक्षयवट किला और सरस्वती कूप को कुंभ में दान किया जाए. कुंभ पहुँच कर अखिलेश ने अब ये तो साफ़ कर दिया है की बीजेपी का कुंभ से कुछ नहीं होने वाला है. क्युकी वोट पाने के लिए योगी के कुंभ प्लान को अखिलेश ने संगम में डुबो दिया है.

बीजेपी हर चीज को अपना कहती आई है. जिन महापुरुषों को कांग्रेस अपना बताती थी, बीजेपी ने उन्हीं महापुरुषों के नाम से योजनाएं शुरू कर दीं और उन्हें अपना बना लिया. वही तरीका योगी आदित्यनाथ ने भी अपनाया और कुंभ को ऐतिहासिक बना दिया. और इन सब चीजों में बीजेपी ने सिर्फ हिंदुत्व ही दिखाया. मगर अखिलेश यादव ने बीजेपी के इस एजेंडे को जड़ से उखाड़ दिया है. संगम में स्नान करके अखिलेश ने अपनी हिंदूवादी छवि को दिखाया है और ये भी बता दिया की हिंदुत्व सिर्फ बीजेपी का एजेंडा नहीं है समाजवादी पार्टी भी उनके साथ है.