अखिलेश ने संगम में लगाई डुबकी, और डूब गया बीजेपी का एजेंडा-

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने रविवार को कुंभ पहुंच कर संगम में आस्था की डुबकी लगाई. अखिलेश की इस डुबकी से बीजेपी का हिन्दू हिन्दू कहने का गुरुर भी टूट गया. आज अखिलेश ने संगम में स्नान करके ये बता दिया की समाजवादी पार्टी भी आस्थावादी और हिंदुत्ववादी पार्टी है.

akhilesh yadav visit in kumbh mela prayagraj
फोटो सौ:- @akhileshyadav ट्विटर

बीजेपी हर चीज को अपना कहती आई है. जिन महापुरुषों को कांग्रेस अपना बताती थी, बीजेपी ने उन्हीं महापुरुषों के नाम से योजनाएं शुरू कर दीं और उन्हें अपना बना लिया. वही तरीका योगी आदित्यनाथ ने भी अपनाया और कुंभ को ऐतिहासिक बना दिया. और इन सब चीजों में बीजेपी ने सिर्फ हिंदुत्व ही दिखाया. मगर अखिलेश यादव ने बीजेपी के इस एजेंडे को जड़ से उखाड़ दिया है.

अखाड़ा परिषद के आमंत्रण पर अखिलेश रविवार को कुंभ मेला पहुंचे. वहां साधू-संतों से मिलकर उनका आशीर्वाद भी लिया. उसके बाद अखिलेश ने संगम में डुबकी लगाई. पवित्र त्रिवेणी की पूजा करने के बाद उन्होंने बड़े हनुमान के दर्शन किए. संगम में स्नान करके अखिलेश ने अपनी हिंदूवादी छवि को दिखाया है और ये भी बता दिया की हिंदुत्व सिर्फ बीजेपी का एजेंडा नहीं है समाजवादी पार्टी भी उनके साथ है.

अखिलेश ने अब ये तो साफ़ कर दिया है की बीजेपी का कुंभ से कुछ नहीं होने वाला है. क्युकी वोट पाने के लिए योगी के कुंभ प्लान को अखिलेश ने संगम में डुबो दिया है. अखिलेश कुंभ से ही योगी पर बरस पड़े. उन्होंने कहा कि राजा हर्षवर्धन ने कुंभ मेले में अपना सब कुछ दान कर दिया था. ऐसे ही योगी सरकार को चाहिए कि जो अकबर का किला है उसे इस कुंभ में दान कर, जनता के लिए खोल देना चाहिए.

अखिलेश यादव रविवार को लखनऊ से प्रयागराज के बमरौली एयरपोर्ट पर उतरे. उसके बाद वायुसेना अधिकारी के घर वैवाहिक कार्यक्रम में शिरकत की फिर वहां से सीधे कुंभ मेला क्षेत्र में पहुंचे. अखिलेश यादव करीब तीन घंटे कुंभ मेला में रहे.