सरदार पटेल की प्रतिमा सिर्फ एक दिखावा, असल मुद्दे को छिपा रही है ‘बीजेपी’

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सोमवार को कानपुर के साकेत नगर स्थित एक होटल में सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के बेटे के विवाह समारोह में शरीक होने आए थे. लेकिन शादी समारोह में भी अखिलेश ने एक प्रेस वार्ता में बीजेपी पर तंज कस्ते नजर आये. यहां अखिलेश ने योगी सरकार को निशाने पर लेते हुए इलाहाबाद का नाम बदलने पर चुटकी ली.

अखिलेश ने इलाहाबाद को लेकर कसा तंज

अखिलेश में कॉन्फ्रेंस में कहा, इलाहाबाद में अर्द्धकुंभ होता है, पर बीजेपी वाले उसको सिर्फ कुम्भ ही कहते हैं. और अब इलाहाबाद का भी नाम बदल रहे हैं. बीजेपी अपने फायदे के लिए प्राचीन परम्पराओं से खिलवाड़ कर रही है. लखनऊ शहर केवल गोबर वाला ‘स्मार्ट सिटी’ बनकर रह गया है. हर तरफ गोबर, गंदगी, गड्ढे नजर आते हैं. ट्रैफिक की बात करें तो वो तो यहां चलता ही नहीं है. चारो तरफ सिर्फ धूल और धुआं ही उड़ता रहता है. हर दिन देश के 20 करोड़ लोग भूखे सो जाते हैं. क्या यही बीजेपी के अच्छे दिन वाला भारत है. अखिलेश ने कहा कि आप लोग मुख्यमंत्री की भाषा देखिए. वे कहते हैं कि ठोंक दो. इसलिए अब जनता ठोंक रही है. पुलिस ने विवेक तिवारी को गोली मार दी. आज आंबेडकरनगर में बसपा के कार्यकर्ता को गोली मार दी गई. ये सब घटनाएं मुख्यमंत्री की भाषा की वजह से ही हो रही हैं.

फोटो सौजन्य- Smithsonian Magazine
फोटो सौजन्य- Smithsonian Magazine

बीजेपी सरदार पटेल पर कर रही है राजनीति

सरदार पटेल पर बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि बीजेपी वाले सरदार पटेल की प्रतिमा क्यों बनवा रहे हैं वो इसलिए क्योंकि बीजेपी ने ही आरएसएस पर बैन लगाया था. मुझे यही लगता है कि बस उसी पुरानी बातों पर पर्दा डालने और अपने को अच्छा दिखाने के लिए बीजेपी सरदार को बड़ा बना रही है. वोट के लिए बीजेपी कुछ भी कर सकती है. प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि ऊट के दूध से चाकलेट बनेगी तो लोग ज्यादा स्वस्थ्य होंगे, तो ये बताइये उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में कहां ऊंट है.

-----