अखिलेश ने अपनी ‘4 सभाएं’ खुद निरस्त की और प्रशासन पर लगा रहे हैं आरोप, पढ़ें पूरा मामला-

आजमगढ़ लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को शुक्रवार को एक बड़ा झटका लगा है. अखिलेश यादव की सगड़ी, आजमगढ़ सदर, गोपालपुर, व मेहनगर विधानसभा क्षेत्रों में होने वाली 4 सभाओं को रद्द कर दिया गया है.

akhilesh yadav public meetings canceled in azamgarh
akhilesh yadav public meetings canceled in azamgarh

आज छठें चरण के चुनाव प्रचार का आख़िरी दिन है. और अखिलेश यादव अपने ही गढ़ में अपना प्रचार नहीं कर पाएंगे. तभी प्रशासन पर आरोप लगाते हुए आजमगढ़ के सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि सभी जानते हैं कि आजमगढ़ में गठबंधन को हमेशा जीत मिलती है. इसी हताशा में सत्ता के दबाव में निर्वाचन से जुड़ी संस्थाएं खासकर जिला प्रशासन तकनीकी दृष्टि से चुनाव रद्द कराने का बहाना ढूंढ़ रहा है. सत्ता और प्रशासन की दुरभि संधि की आशंका के चलते आज 10 मई को प्रस्तावित अखिलेश यादव की सभाओं को निरस्त कर दिया गया है.

-----

वहीँ आजमगढ़ के जिलाधिकारी (डीएम) शिवाकांत द्विवेदी ने इस पर एक बड़ा खुलासा कर दिया है. जिससे सभी की बोलती बंद हो गई है. उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से अखिलेश यादव की कोई सभा रद्द नहीं की गई है. चुनाव आयोग की ओर से खर्चे पर निगरानी रखने वाले व्यय पर्यवेक्षक की ओर से सभी पार्टियों को खर्चे को लेकर नोटिस भेजा गया है. उन्होंने अपनी सभाएं खुद ही रद्द की हैं.

डीएम के बयान से ये साफ़ हो जाता है की अखिलेश यादव का चुनावी खर्च पूरा हो चुका है. जिसके चलते उन्होंने अपनी सभी रैलियां खुद रद्द कर दी हैं. और पार्टी की बदनामी न हो इसलिए वे जिला प्रशासन पर आरोप लगा रहे हैं.

हालाँकि सपा सांसद व स्टार प्रचारक डिंपल यादव राज्यसभा सदस्य जया बच्चन के साथ प्रयागराज में रोड शो करेंगी. उनके ऊपर ऐसा कोई प्रतिबन्ध नहीं है. लोकसभा क्षेत्र इलाहाबाद से उम्मीदवार राजेंद्र सिंह पटेल व फूलपुर से प्रत्याशी पंधारी यादव के समर्थन में रोड-शो होगा, जिसके लिए गठबंधन नेता और कार्यकर्ता तैयारी में जुटे हैं.