अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने दी सभी को रामनवमी की शुभकामनाएं..ट्रोल होने पर ट्वीट किया डिलीट..

शारदीय नवरात्रि 2021 की नवमी तिथि पर सभी को शुभकामना संदेश देते हुए..अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने अपने ट्वीट में कुछ ऐसा लिख दिया जिससे कि लोगों ने अखिलेश यादव को ट्रोल करना लगे..अखिलेश यादव ने लोगों को शुभकामना देते हुए महानवमी को रामनवमी लिख दिया..इसी बात पर लोग उनके ट्वीट को गलत बताने लगे..लेकिन जैसे ही अखिलेश यादव को गलती का एहसास होते ही अखिलेश यादव ने अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया..

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने महानवमी की शुभकामनाएं लेकर दो ट्वीट किए..जो ट्वीट अखिलेश यादव ने पहले किया उसमें उन्होंने लिखा कि “आपको और आपके परिवार को रामनवमी की अनंत मंगलकामनाएं”..इस ट्वीट पर लोगों ने अखिलेश यादव को ट्रोल करना शुरु किया तो अखिलेश यादव ने अपने उस ट्वीट को डिलीट कर दिया..

गौरतलब है कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के दूसरे ट्वीट पर भी लोग रामनवमी वाले ट्वीट के लिए ट्रोल कर रहे हैं। पूनम ठाकुर नाम की एक यूजर ने लिखा कि, “वोट बैंक के खातिर मंदिरों के चक्कर लगाने की जगह हिंदू धर्म और रीति रिवाजों के बारे में अच्छे से जानकारी हासिल की होती तो शायद ऐसी गलती न करते अखिलेश यादव जी।”

और जब अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने दूसरा ट्वीट किया तो वहां पर भी रामनवमी वाले ट्वीट के लिए उन्हें लोग ट्रोल कर रहें हैं..पूनम ठाकुर नाम की यूजर ने लिखा कि, “वोट बैंक के खातिर मंदिरों के चक्कर लगाने की जगह हिन्दू धर्म और रीति रिवाजों के बारे में अच्छे से जानकारी हासिल की होती तो शायद ऐसी गलती न करते अखिलेश यादव जी”

शलभमणि त्रिपाठी ने दिया भी दिया जवाब..


बीजेपी सरकार के सूचना सलाहकार शलभमणि त्रिपाठी ने लिखा कि “प्रभुराम राजा दशरथ के पुत्र हैं, लक्ष्मण उनके भाई हैं, वे अयोध्या के राजा थे, उन्होने रावण का वध किया, रावणराज लंका में था ये जानकारी आप उन सभी नए नवेले हिंदुओं के लिए जो हिंदुओं से प्रचंड नफरत करते हैं, परंतु चुनावी मौसम में हिंदू बने घूम रहें हैं और हां आज रामनवमी नहीं महानवमी है”

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को ट्रोल करने को लेकर रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप सिंह ने कहते हैं- “वध से डर कर अंध भक्त याद दिला रहे हैं कि आज रामनवमी नहीं, महानवमी है”,गोबर तरह के भक्त बस इन्हीं सब में फंसे रहेंगें..इस बार तो अराजकता का वध ही हो जाएगा..

रामनवमी तब होती है जब चैत्र के नवरात्र आते हैं.. हिंदू कैलेंडर के हिसाब से शारदीय नवरात्रि में नवमी तिथि को महानवमी कहते हैं..और इसमें मां दुर्गा के नौवें रुप मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *