अखिलेश (Akhilesh Yadav) ने नदी में देखा हैरान करने वाला मंजर..सैल्यूट किए बिना नहीं रह पाए..

कानपुर समाजवादी विजय रथ यात्रा : नमस्कार दोस्तों अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने विजय रथ यात्रा की शुरुआत कनपुर से कर दी है…रथ यात्रा की शुरुआत होते ही समाजवादी झंडों से सजी हुई..दर्जोनों नावें गंगा मईया की गोद में क्या कर रही हैं..पानी में समावादी झंडों वालीं नावें क्यों हैं.. इन नावों को यहां क्यों लाया गया है…इनको पानी में उतारने का क्या मक्सद है…अखिलेश यादव इनको खड़े होकर सलामी क्यों दे रहे हैं…इन नाव वालों ने ऐसा क्या किया है..तो दोस्तों पूरी खबर बताएंगे..

दोस्तों अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कानपुर के गंगा पुल से 2022 में बीजेपी को हराने के लिए समाजवादी विजय रथ यात्रा की शुरुआत की..जिस पुल से रथ यात्रा की शुरुआत हुई उसके नीचे से गंगा बहती है…अखिलेश यादव का स्वागत करने के लिए कानपुर के गंगा पुत्र निषाद मल्लाहों ने पानी में अपनी नावें उतार दीं..नावों पर कुछ समाजवादी और कुछ वो लोग थे जो गंगा किनारे रेती पर सब्जी उगाते हैं वो भी नावों पर शामिल थे..

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के समर्थन में सड़कों पर लाखों लोगों का सैलाब उमड़ा था लेकिन जब अखिलेश यादव की नजर बहती हुई गंगा मां की तरफ गई तो गंगा में निषादों किसानों और कार्यकर्ताओं को सैल्यूट किए बिना नहीं रह पाए..क्योंकि अखिलेश यादव का कहना है कि 2022 के विधानसभा चुनाव में निषाद मल्लाह समेत पिछड़ी जातियां मिलकर समाजावादी सरकार लाएंगीं..और विजय रथ यात्रा के पहले ही दिन इस तरह का समर्थन बताता है कि 2022 में हवा बदल रही है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *