अखिलेश के करीबी नेता रामगोविन्द को हार्ट अटैक, अच्छे स्वास्थ्य के लिए कराया गया हवन

Ulta Chasma Uc  :   दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी के ‘स्वास्थ्य लाभ’ जल्दी ठीक होने के लिए दुआएं की जा रही हैं. सीरियापुर की देईया माई धाम पर शुक्रवार को महामृत्युंजय हवन कराया गया. इस हवन का आयोजन लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता रविंद्र यादव ने कराया. जिसमें मां से रामगोविन्द चौधरी के जल्द से जल्द स्वस्थ्य हो जाने की विनती की गई.

मंत्रोच्चार के बीच हवन में नौजवानों ने आहुति दी. इस दौरान पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष अखिलेश यादव, उपेंद्र यादव, नंदलाल कुमार, संतोष कुमार, स्वतंत्र यादव, इसरावती देवी, सुरसती देवी, कौशिल्या, चंद्रमी देवी आदि लोग मौजूद रहे.

Akhileshs closest leader Ramgovind Chaudhary gets heart attack
अच्छे स्वाथ्य के लिए कराया गया हवन

पूर्व छात्र नेता रविंद्र यादव ने बताया

हवन स्थल पर अपने हाथों में नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी की तस्वीर लेकर मौजूद महिलाओं ने भी उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की और ठीक होकर गरीब, मजदूर, नौजवान, बुनकरों की सदन से लेकर सड़क तक लगातार आवाज बने रहने की प्रार्थना की. आयोजक रविंद्र यादव ने बताया कि नेता विरोधी दल रामगोविंद चौधरी जी मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार की कमान संभाले हुए थे. गत 11 नवंबर को झांसी में उन्हें हार्ट अटैक आया. जिसके बाद उन्हें दिल्ली के मेदांता अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया.

-----

उन्होंने कहा की, चौधरी जी मजदूर, गरीब, नौजवान, किसान, गांव-गरीब के बीच के नेता हैं. वह हम सभी के प्रेरणास्रोत हैं. सबकी यही कामना है की वे हमारे बीच रहें. हमें पूरी उम्मीद है कि मां हमारी प्रार्थना स्वीकार करेंगी और नेता विरोधी दल जल्द ही पूरी तरह से स्वस्थ्य होकर दोगुनी उर्जा से हम सबके हक की आवाज बुलंद करेंगे.

-----
Akhileshs closest leader Ramgovind Chaudhary gets heart attack
अखिलेश ने बनाया था विरोधी दल का नेता

कौन है राम गोविंद चौधरी

राम गोविंद चौधरी को अखिलेश यादव ने आजम खान और शिवपाल यादव की अनदेखी करते हुए विपक्षा का नेता नियुक्त किया है. राम गोविंद चौधरी आठ बार के विधायक हैं और उन्हें अखिलेश यादव का करीबी माना जाता है, अखिलेश सरकार में वह बेसिक शिक्षा मंत्री थे, इसके अलावा वह बाल विकास मंत्री भी रहे। राम गोविंद चौधरी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत छात्र राजनीति से की थी और पहली बार वह 1977 में चिलकहर विधानसभा सीट से जीतकर आए थे.

Web Title :  Akhilesh closest leader Ramgovind Chaudhary gets heart attack

HINDI NEWS से जुड़े अपडेट और व्यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ FACEBOOK और TWITTER हैंडल के अलावा GOOGLE+ पर जुड़ें.