समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की नासमझी से नरेद्र मोदी दो बार बने प्रधानमंत्री

AIMIM Chief Asaduddin Owaisi : अयोध्या के रूदौली पहुंचे AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती को नसमझ बताया हैं.असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि उत्तर प्रदेश के इन दो बड़े नेताओं की वजह से ही नरेद्र मोदी दो बार देश के प्रधानमंत्री बने हैं..साथ ही ओवैसी ने अपने ऊपर लगे उन आरोपों को भी खारिज किया जिसमें असदुद्दीन ओवैसी को उत्तर प्रदेश में वोट काटुआ नेता बताया गया था.

http://ultachasmauc.com/joe-biden/

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी अपने दो दिवसीय दौरे पर अयोध्या के रूदौली विधान सभा पहुंचे थे. दरअसल 2022 में होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले पार्टी के प्रचार को पहुंचे थे. अपनी पार्टी के अभियान की शुरुआत करने के एक दिन बाद ओवैसी सुल्तानपुर जिले के ओदरा गांव में बुधवार को एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान पत्रकारों के साथ हुई बातचीत में ओवैसी ने कहा कि आज का मुसलमान जान चुका हैं कि कई सारी पार्टिया मुसलमानों वोट तो ले लेती हैं. लेकिन उन मुस्लमानों को नेता नही बनाती और न ही अपनी पार्टियों में उनकों को इज्जत देती हैं.

ओवैसी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि कहा जाता है़ ओवैसी लड़ेगा तो वोट काट देगा. ओवैसी ने सभा को संबोधित करते हुए लोगों से सवाल किया कि सुल्तानपुर में आप सबने अखिलेश यादव को झोली भर-भर कर वोट दिया तो सूर्या कैसे जीते? 2019 में लोकसभा के चुनाव में सुल्तानपुर से भाजपा कैसे जीती, तब ओवैसी तो चुनाव नहीं लड़ रहा था. क्या अखिलेश यादव ने कहा कि हिंदू ने वोट नहीं किया इसलिए हारे? क्यों मुसलमानों को कहते हैं, कि मुसलमानों ने वोट नहीं दिया, क्या मुसलमान कैदी हैं? ओवैसी ने ये भी कहा कि दो बार भाजपा मुसलमानों के वोटो से नहीं जीती है.

http://ultachasmauc.com/national-monetisation-pipeline-pragya-ka-panna/

ओवैसी ने अपने ऊपर लगे आरोपो को खारिज करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़कर ओवैसी भाजपा के प्रतिद्वंद्वियों के वोट खराब करेंगे, हैदराबाद के सांसद ने सवाल किया, ‘जब आप सभी (मुसलमानों) ने अखिलेश यादव की पार्टी को वोट दिया तो पिछले विधानसभा चुनाव में यहां से एक भाजपा उम्मीदवार कैसे जीता? इसी तरह भाजपा ने 2019 में सुल्तानपुर से लोकसभा चुनाव कैसे जीता, जबकि एआईएमआईएम वहां नहीं लड़ी थी?

इस दौरान समाजवादी पार्टी के सुप्रीमों अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए ओवैसी ने सवाल किया, ‘क्या मुसलमान आपके गुलाम हैं?’ ओवैसी ने कहा, ‘नरेंद्र मोदी अखिलेश और मायावती की ‘नासमझी’ के कारण दो बार प्रधानमंत्री बने।’ लेकिन इस मामले पर ओवैसी ज्यादा कुछ नही बोलते हुए चुप हो गए..ओवैसी ने कहा कि लोकसभा के चुनाव में एआईएमआईएम ने तीन सीटों हैदराबाद, औरंगाबाद और किशनगंज से चुनाव लड़ी थी..ओवैसी ने कहा कि हमने हैदराबाद में भाजपा को हराया, हमें हराने मोदी और अमित शाह आए थे.

http://ultachasmauc.com/afganistan/

लेकिन हमने उनकी दाल नहीं गलने दी. औरंगाबाद में 21 साल से शिवसेना सांसद को एआईएमआईएम ने हराया. किशनगंज में हम हार जरूर गए लेकिन लाखों वोट मिले.ओवैसी ने दावा किया, ‘जहां मैं लड़ता हूं वहां भाजपा नहीं जीतती. हम चाहते हैं कि आपकी आवाज को विधानसभा व संसद में उठाने वाला आपका कोई नुमाइंदा हो. और यह तभी होगा जब हम सब अपने लोगों को चुनकर भेजेंगे.


ओवैसी ने कहा कि एआईएमआईएम की कोशिश हैं यूपी में चुनाव से पहले जहां जहां मेरा संगठन मजबूत हो चुका हैं.वहां जाकर हम अपने लोगों व वहां की जनता से मुलाकात करेंगे.यही चुनाव की तैयारी है ताकि चुनाव में अच्छा नतीजा आए. लखनऊ में 2022 में उत्तर प्रदेश में राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण विधानसभा चुनाव में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन के 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की थी… एआईएमआईएम ने उत्तर प्रदेश में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *