अफगानिस्तान में बन गई तालिबान सरकार, कट्टरपंथी नेताओं ने संभाली कमान

AFGANISTAN : अफगानिस्तान में 22 दिन बाद तालिबानी सरकार के ऐलान की घोषणा कर दी गई हैं… लेकिन इस सरकार को अभी कार्यवाहक सरकार के रूप में बताया गया हैं…. ऐसे में अभी तालिबानी सरकार में कई सारे बदलाव के साथ उतार चढ़ाव देखने को मिल सकते हैं… तालिबानी सरकार का मुखिया मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को बनाया गया है…. हसन अखुंद संयुक्त राष्ट्र के आतंकियों की लिस्ट में शामिल है… हसन अखुंद तालिबान के पिछले शासन में भी मंत्री था…..

http://ultachasmauc.com/what-is-delimitation-for-jammu-and-kashmir/

कहा जाता है कि 2001 में अफगानिस्तान के बालियान प्रांत में बुद्ध की प्रतिमाएं तोड़ने की मंजूरी हसन अखुंद ने ही दी थी…. उसने इस आदेश को अपनी धार्मिक जिम्मेदारी बताया था….अब्दुल गनी बरादर यानी मुल्ला बरादर को हसन अखुंद का डेप्युटी बनाया गया हैं…. मुल्ला याकूब को रक्षा मंत्री और सिराजुद्दीन हक्कानी को आंतरिक मामलों का मंत्री बनाया गया है…. शेर अब्बास स्टेनिकजई को डिप्टी विदेश मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई है…..

खैरउल्लाह खैरख्वा को सूचना मंत्री और जबीउल्लाह मुजाहिद को सूचना मंत्रालय में डिप्टी मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है…. अब्दुल हकीम को न्याय मंत्रालय सौंपा गया है…नई सरकार में कुल 33 मंत्रियों को शामिल किया गया है…. नई सरकार में किसी भी महिला को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है…तालिबान ने नए मंत्रि मंडल में महिला और पुरूष को बराबर की जिम्मेदारी देने की बात कही गई थी… लेकिन नए मंत्रिमंडल में हजारा समुदाय का एक भी सदस्य को शामिल नहीं किया गया है….

http://ultachasmauc.com/akhilesh-yadav-2/

तालिबान के सुप्रीम लीडर हैबतुल्लाह अखुंदजादा ने ही अफगानिस्तान की नई तालिबान सरकार की कमान मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को सौंपने का फैसला किया है…. इस जिम्मेदारी के लिए मुल्ला बरादर का नाम सबसे आगे चल रहा था ….. ऐसा माना जा रहा था कि उनका नाम नई अफगान सरकार का मुखिया बनना तय है…. लेकिन आखिर में मुल्ला हसन अखुंद को नई सरकार का मुखिया बनाया गया हैं….

-----

मुल्ला हसन अखुंद संयुक्त राष्ट्र की आतंकवादियों की सूची में शामिल हैं…. साल 2001 में बामियान में बुद्ध की विशाल प्रतिमा को बम से उड़ाने के पीछे भी मुल्ला हसन अखुंद मुख्य रूप से भूमिका बताई गई थी…. जबकि आंतरिक मामलों के मंत्री बने सिराजुद्दीन हक्कानी का नाम वैश्विक स्तर के आतंकवादियों की लिस्ट में है…. अमेरिका ने सिराजुद्दीन हक्कानी के बारे में सूचना पर 50 लाख डॉलर का इनाम देने की घोषणा की थी….

http://ultachasmauc.com/helicopter/

अमेरिका के संघीय जांच ब्यूरो की वेबसाइट के मुताबिक 2008 में अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई की हत्या के प्रयास की साजिश में भी सिराजुद्दीन हक्कानी मुख्य रूप से शामिल था….. नई सरकार के मंत्रियों की सूची में एक भी गैर-तालिबानी नेता का नाम नहीं है…. जबकि काबुल पर कब्जे के बाद से तालिबान दावा करता रहा है कि वो सबको साथ लेकर चलना चाहता है….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *