क्यों रद्द हुई आजम के बेटे अब्दुल्ला की विधायकी ? इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला, पढ़ें-

उत्तर प्रदेश की रामपुर लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम का हाई कोर्ट ने निर्वाचन रद्द कर दिया है. अब्दुल्ला आजम स्वार सीट से विधायक चुने गए थे.

abdullah azam khan nomination cancelled suar assembly seat
abdullah azam khan nomination cancelled suar assembly seat

24 अप्रैल 2017 को बहुजन समाज पार्टी के नेता नवाब काजिम अली ने चुनाव याचिका दायर की थी. अब्दुल्ला के निर्वाचन पर दी गई अर्जी में उन्होंने कहा था कि वर्ष 2017 में चुनाव के वक्त आजम खान के बेटे न्यूनतम निर्धारित उम्र 25 वर्ष के नहीं थे. चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने फर्जी डॉक्युमेंट्स दाखिल किए थे और झूठा हलफनामा दाखिल किया था.

बता दें कि काजिम अली की ओर से दायर की गई अर्जी में अब्दुल्ला आजम की 10वीं क्लास की मार्कशीट के साथ कई अहम दस्तावेजों में दर्ज जन्मतिथि 01.01.1993 को आधार बनाया गया था. इस जन्मतिथि के हिसाब से वे चुनाव नहीं लड़ सकते थे. नवाब काजिम अली ने अपनी याचिका में अब्दुल्ला की जन्म तिथि 30.09.1990 बताने वाले लखनऊ नगर निगम के प्रमाण पत्र को झूठा बताते हुए स्वार का चुनाव रिक्त घोषित करने की मांग की गई थी.

हालांकि, पूरे मामले को लेकर अब्दुल्ला आजम का कहना था कि प्राइमरी में ऐडमिशन के वक्त टीचर ने अंदाज से जन्मतिथि दर्ज की थी.

सोमवार को जब काजिम अली की ओर से दायर की गई अर्जी पर सुनवाई हुई तो इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन रद्द कर दिया. हाईकोर्ट ने उन्हें फर्जी दस्तावेज देकर चुनाव लड़ने का दोषी पाया. कोर्ट ने कहा कि चुनाव के वक्त अब्दुल्ला आजम की उम्र 25 साल नहीं थी. अब्दुल्ला रामपुर से समाजवादी पार्टी की टिकट पर चुनाव जीते थे. कोर्ट ने उनकी उम्मीदवारी रद्द करते हुए कहा कि वे विधायकी के लिए निर्धारित न्यूनतम उम्र 25 वर्ष पूरा नहीं कर पाए इसलिए उनकी विधायकी रद्द की जाती है.

अब्दुल्ला आजम रामपुर इलाके की स्वार विधानसभा सीट से 2017 में चुनाव जीते थे और ये उनका पहला चुनाव था. अब्दुल्ला आजम ने बीजेपी उम्मीदवार लक्ष्मी सैनी को 50 हजार से ज्यादा मतों से हराया था, जबकि बीएसपी के नवाब काजिम अली तीसरे नंबर रहे थे.

139 total views, 2 views today

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *