अखिलेश से मिले आप नेता ‘संजय सिंह’, कहा- सपा-बसपा को मिलेंगी 60 से ज्यादा सीटें

एग्जिट पोल देखने के बाद सभी विपक्षी नेता मिल कर गणित लगाने में लगे हुए हैं. चंद्रबाबू नायडू भी विपक्ष को एक साथ करने में लगे हुए हैं. तो इधर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने आज मंगलवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से लखनऊ में उनके आवास पर मुलाकात की है.

aap leader sanjay singh meet sp leader akhilesh yadav
aap leader sanjay singh meet sp leader akhilesh yadav

अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद संजय ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, परिणाम आने में दो दिन बचे हैं. हम इसलिए मिले ताकि आगे की रणनीति तैयार कर सकें. हमारी पहली प्राथमिकता भाजपा को रोकने की है, मोदी-शाह की जोड़ी और सांप्रदायिक ताकतों को रोकने की है. ये एक शिष्टाचार भेंट थी. संजय ने एग्जिट पोल को नकारते हुए कहा कि, मुझे लगता है कि यूपी में सपा-बसपा गठबंधन को 60 से ज्यादा सीटें मिलेंगी. इसके साथ ही देश भर में भाजपा का सफाया हो जाएगा.

-----

संजय ने आगे कहा कि एग्जिट पोल पूरी तरह से झूठे साबित होंगे, जैसे पहले हुए थे. इस बार विपक्ष मिलकर केंद्र में एक मजबूत सरकार बनाएगा. आपको बतादें कि लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे आने में सिर्फ दो दिन ही रह गए हैं. ऐसे में हर पार्टी इस जोड़-तोड़ में लगी है कि एक्जिट पोल चाहे कुछ भी कहे लेकिन विपक्ष अपनी ही धुन में है.

चुनाव खत्म होने के बाद आए एग्जिट पोल रुझानों से विपक्ष में काफी हलचल बढ़ गई है. इससे पहले अखिलेश यादव भी सोमवार को बसपा सुप्रीमो मायावती से मिलने उनके आवास पर पहुंचे थे. दोनों नेताओं ने बंद कमरे में वार्ता की और मीडिया को इससे दूर रखा गया. लेकिन पार्टी सूत्र कहते हैं कि अगर भाजपा को पूर्ण बहुमत नहीं मिलता है तो अखिलेश कांग्रेस को समर्थन दे सकते हैं. लेकिन इस बात पर मायावती ने अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्र में नई सरकार का गठन होगा. मतदाताओं ने गठबंधन को भरपूर समर्थन देने के साथ ही भाजपा सरकार को अलविदा कह दिया है. गरीबों, किसानों, देश और भाईचारे की बात करने वाली पार्टियां 23 मई के बाद देश को नया पीएम देने के प्रयास में हैं. अखिलेश ने दावा किया कि यूपी में महागठबंधन को सबसे ज्यादा सीटें मिलेंगी. साथ ही कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो कांग्रेस को समर्थन दे सकते हैं.