UP में मिले 64 नए मरीज, इनमें 9 लखनऊ के, संख्या बढ़कर हुई 946

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है. प्रदेश में आज शनिवार को 64 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई हैं. जिसके बाद यूपी में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 946 हो गई हैं.

64 new patients of coronavirus found uttar pradesh
64 new patients of coronavirus found uttar pradesh

यूपी में अब तक कोरोना वायरस से 14 लोगों की जान जा चुकी है. वहीं लखनऊ में 53 नए कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इनमें 44 तब्लीगी जमात के लोग शामिल हैं. सभी को जीसीआरजी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. इसमें से नौ मरीज शहर के निवासी हैं. दो नजीराबाद, दो तोपखाना, पांच सदर के हैं. इन सबको मिला कर लखनऊ में अब कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 172 हो गई है.

इससे पहले शुक्रवार को डालीगंज के मौसमगंज मुहल्ले का एक निजी अस्पताल के आइसीयू में तैनात स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव मिला था. दरअसल यहां पर सदर निवासी पूर्व पार्षद के पिता भर्ती हुए थे, जिनमें कोरोना पाया गया था. जिससे स्वास्थ्यकर्मी को भी हो गया. प्रशासन ने एहतियातन मौसमगंज को हॉटस्पॉट घोषित कर दिया और हॉस्पिटल बंद कर 17 कर्मचारियों को क्वारंटाइन कर दिया गया है. पॉजिटिव मरीजों में चार पुरुष, तीन महिलाए हैं. कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 197 संदिग्ध के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं.

लखनऊ शहर के 15 हॉटस्पॉट-
  1. कैंट का तोपखाना
  2. डालीगंज का मौसमगंज
  3. मस्जिद अली जान कसाई बाड़ा, सदर बाजार
  4. मोहमदिया मस्जिद, वजीरगंज
  5. अहमदिया मस्जिद, सहादतगंज
  6. नजरबाग मस्जिद, कैसरबाग
  7. फूलबाग मस्जिद, कैसरबाग
  8. लाल मस्जिद आलमनगर, तालकटोरा
  9. खजूर वाली मस्जिद, त्रिवेणी नगर
  10. मोहम्मदी मस्जिद, चारबाग
  11. आइआइएम रोड, केवी पावर हाउस मड़ियांव
  12. एलिना एनक्लेव, खुर्रमनगर
  13. विजय खंड, गोमतीनगर
  14. मुंशीपुलिया मेट्रो स्टेशन
  15. नया गांव, कैसरबाग

तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों के कारण इसपर अंकुश नहीं लग पा रहा है. लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने वाली पुलिस टीम और स्वास्थ्य परीक्षण करने वाली मेडिकल टीम के साथ बदसलूकी भी बढ़ी है. इसी को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट निर्देश दिए है कि इस तरह के उपद्रवियों के साथ अब दंगा करने वाले लोगों की तरह ही निपटा जाए. अगर कहीं पर भी अभद्रता, पथराव या अन्य हिंसा की घटना होती है तो पुलिस सभी उपद्रवियों के खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन ले.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *