बिहार वाली फ्री वैक्सीन कहां है ? 250 रूपए का टीका लगेगा उत्सव मनेगा

बिहार मा साहब लोग कहिले रहे.. रउवा लोग एक बार जिता देईं..हम तोहर सबका फ्री मा वैक्सीन लगा देब..एक बार जितावे के बाद..तोहरा सब लोगन का कोरोना कुछ ना बिगाड़ पाई..अब पूछतानी वैक्सीन बन गई..विदेशन मा बंट रही है..रउवा लोगन का फ्री मा वैक्सीन लग गईली का..हम पूछतानी लग गईली का..बाबू ई दुनिया मा कुछ फ्री ना बा.. हर चीज की एक कीमत है..वैक्सीन की भी है..और कोरोना टेस्ट की भी है..

250 rupees vaccine will be celebrated Teeka festival

टेस्ट कराने के लिए 600 रुपये और वैक्सीन फ्री में ?

क्या आपने कभी सोचा है कि जो सरकार कोरोना का टेस्ट कराने के लिए 600 प्रति मरीज ले रही है वो फ्री में वैक्सीन लगा देगी.. कोरोना जांच के सरकारी अस्पतालों में भी 600 रूपए लिए जा रहे हैं..

मुझे भी यकीन नहीं हो रहा था..न्यूज स्टूडियो में बैठकर लगता था कि सरकारी अस्पतालों में फ्री जांच होती होगी..लेकिन जब मैं..उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े मेडिकल कॉलेज किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज गई तो लोगों ने मुझे घेर लिया कहने लगे कोरोना जांच के पैसे नहीं है..दीदी कुछ जुगाड़ करा दीजिए..कोरोना की जांच कराने के लिए लोगों का मेला लगा था..ऐसा कोरोना जमघट कि जिसको कोरोना ना होना हो उसको भी हो जाए..जांच के लिए दिन दिन भर इंतजार करना पड़ता है..और उसके बाद अगर सौभाग्य से नंबर आ जाता है तो 600 रूपए देने पड़ते हैं…

-----

कहां हैं इंतजाम.. कहां हैं अस्पताल..

गरीबों की आंखों में आंसू देखकर आग लग जाती है कि कोरोना के एक साल बाद भी हम बातें बना रहे हैं..आज भी हम ज्ञान बांच रहे हैं कि जी सुरक्षित रहें.. हेलो जी सरक्षित रहें….कहां हैं इंतजाम..कहां हैं अस्पताल..कहां है कोरोना टेस्टिंग सिस्सटम..कहां है फ्री की वैक्सीन..कोरोना जांच कराने के लिए आज एक साल बाद भी जुगाड़ कराना पड़ता है..बात कर रहे थे फ्री में वैक्सीन लगवाने की..कितने बिहारियों को फ्री में वैक्सीन लग गई है..बुढ़ौती और फ्रंटलाइन वर्कर्स के अलावा किसी आम आदमी को फ्री में लगी हो तो पर्ची दिखाकर कमेंट में बता दीजिए..

250 रूपए लेकर कैसा उत्सव

सरकार टीका उत्सव मना रही है.. प्राइवेट दफ्तरों में जाकर वैक्सीन लगाई जाएगी और 250 रूपए प्रति टीका लिय जाएगा..और फिर टीका उत्सव मनाया जाएगा..250 रूपए लेकर..उत्सव ही मनेगा ना..टीका उत्सव नाम गलत नहीं रखा है..आपदा में अवसर गलत नहीं कहा था..

मैं कोरोना से मरने वाले मरीजों को जहां जलाया जाता है उस मुर्दाघर होकर आई हूं..मैं लखनऊ के उन अस्पतालों में घूमकर आई हूं..जहां कोरोना का इलाज हो रहा है और जांच हो रही है..आपके अलग-अलग राज्यों का मुझे नहीं मालूम लेकिन यूपी की बात कर ही रही हूं. अगर आपके किसी अपने को कोरोना के लक्षण हैं तो बताया गया इलाज घर पर कीजिए..सरकारी अस्पतालों में सीधे ऊपर का टिकट कट जाएगा..

अस्पताल नहीं नरक हैं…नरक..

बहुत बुरी हालत है..अस्पताल नहीं नरक हैं…नरक..मैं आप लोगों को सच बता रही हूं..अपने डॉक्टर भाई बहनों को डीमोटीवेट नहीं कर रही हूं..वो क्या करें बिचारे..5 की जगह में 500 का इलाज होगा तो कैसे कर पाएंगे..दोस्तों सुरक्षित रहिए..वीडियो और लोगों को भी दिखाईये..चैनल सब्सक्राइब कराईये..फेसबुक पर लाइक फॉलो शेयर करिए.और कोरोना से डरिए..मेरी शक्ति आप लोग है मुझे शक्तिमान बनाईये..सच को समझौतों से बताईये…चलते है राम राम दुआ सलाम…जय हिंद..