कुंभ मेला: 153 स्पेशल ट्रेनें और 5500 बसें आज से शुरू, देखें समय सारणीं:- तीसरा शाही स्नान कल

कुंभ मेला का सबसे बड़ा स्नान पर्व मौनी अमावस्या पर होगा जो कल 4 फरवरी को ही है. और ये तीसरा शाही स्नान भी है. ऐसे में लाखों करोड़ों श्रध्दालु कुंभ में डुबकी लगाने के लिए आज ही से अपनी यात्रा पर निकल रहे है. जिसके लिए प्रशासन के साथ साथ रेलवे और रोडवेज ने भी अपनी कमर कस ली है.

153 special trains and buses run on mauni amavasya in prayagraj kumbh
153 special trains and buses run on mauni amavasya in prayagraj kumbh

ये पहला मौका है जब रेलवे चार एवं पांच फरवरी को 153 स्पेशल ट्रेनों का संचालन करेगा. कोई दुर्घटना न हो इसको देखते हुए जंक्शन के सिविल लाइंस साइड से रेलवे ने अमावस्या के एक दिन पूर्व तीन फरवरी की सुबह दस बजे यात्रियों का प्रवेश बंद करने की बात कही है. इस दौरान सिर्फ सिटी साइड से ही यात्रियों का प्रवेश होगा. आज रात 12 बजे के बाद से ये ट्रेनें शुरू हो जाएँगी. रेलवे ने चार फरवरी को 75 एवं पांच फरवरी को 78 स्पेशल ट्रेनों को समय सारिणी के हिसाब से चलाने का निर्णय लिया है.

-----

चार, पांच एवं छह फरवरी को कानपुर, मुगलसराय (पंडित दीन दयाल उपाध्याय) रूट के लिए आठ-आठ और झांसी के लिए तीन, बांदा, सतना के लिए दो-दो और इटारसी के लिए एक स्पेशल ट्रेन उत्तर मध्य रेलवे की ओर से चलाई जाएगी. वहीं पूर्वोत्तर रेलवे की ओर से मंडुवाडीह, भटनी, मऊ, गोरखपुर, छपरा के लिए इलाहाबाद सिटी एवं झूंसी से ट्रेनें संचालित की जाएंगी.

वहीँ मौनी अमावस्या पर रोडवेज की बसें रविवार से शहर में नहीं आएंगी. बसों को शहर के बाहर ही रोका जाएगा. श्रद्धालुओं को वहां से शहर में लाने के लिए 500 शटल बसों की सेवा रविवार से तीन दिन के लिए फ्री रहेगी. और रोडवेज ने भी अमावस्या पर विभिन्न रूटों के लिए 5500 बसें चलाने की तैयारी पूरी कर ली है. ताकि प्रदेश और दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालु आसानी से संगम नगरी पहुंच सकें.

नवाब यूसुफ रोड पर दो रास्तों को छोड़कर सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है. सभी स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है. प्लेटफार्म पर मेडिकल बूथ, स्टेशन परिसर में एंबुलेंस, फायर बिग्रेड की व्यवस्था कर दी गई है. इसके अलावा जंक्शन तक रास्ते में लगी 100 स्क्रीन पर ट्रेनों की जानकारी दी जा रही है. इसके साथ ही मेला क्षेत्र में भी ट्रेनों की जानकारी के लिए बैनर लगा गए हैं. ताकि किसी यात्री को कहीं भी भटकना न पड़े.

प्रमुख स्नान

प्रयागराज के त्रिवेणी संगम के पवित्र जल में डुबकी लगाकर हर व्यक्ति अपने समस्त पापों को धो डालता है. स्वयं को और अपने पूर्वजों को पुनर्जन्म के चक्र से अवमुक्त कर देता है. फिर मोक्ष को प्राप्त हो जाता है.

पहला स्नान: मकर संक्रांति 15 जनवरी (माघ मास का प्रथम दिन, जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है)

दूसरा स्नान: पौष पूर्णिमा-21 जनवरी, इस दिन पूर्ण चन्द्र निकलता है. और इसी दिन से कुम्भ मेला की अनौपचारिक शुरूआत कर दी जाती है.

तीसरा स्नान: मौनी अमावस्या-4 फरवरी, इस दिन ग्रहों की स्थिति पवित्र नदी में स्नान करने वालों के लिए सर्वाधिक अनुकूल होती है.

चौथा स्नान: बसंत पंचमी-10 फरवरी, विद्या की देवी सरस्वती का दिवस ऋतु परिवर्तन का संकेत माना जाता है.

पांचवा स्नान: माघी पूर्णिमा-19 फरवरी, ये दिन गुरू बृहस्पति की पूजा से जुड़ा होता है.

छठां स्नान: महाशिवरात्रि-4 मार्च, ये अन्तिम स्नान है. तो भगवान शंकर से जुड़ा है. यहाँ आने वाला हर श्रद्धालु शिवरात्रि के व्रत और संगम स्नान से वंचित नहीं होना चाहता. मानना है की देवलोक के देवता भी इस दिन का इंतजार करते हैं.

कुंभ की खास बातें
  1. 45 वर्ग किमी में कुंभ मेला
  2. 600 रसोईघर
  3. 48 मिल्क बूथ
  4. 200 एटीएम
  5. 4 हजार हॉट स्पॉट
  6. 1.20 लाख बायो टॉयलेट
  7. 800 स्पेशल ट्रेनें चलाईं
  8. 300 किमी रोड बनी
  9. 40 हजार एलईडी
  10. 5 लाख गाड़ियों के लिए पार्किंग एरिया
चार, पांच फरवरी के लिए रवानगी का समय-
  1. इलाहाबाद जंक्शन से फतेहपुर/कानपुर सुबह 05.00, सुबह 6.30, सुबह 10.15, दिन 12.45, दिन 02.15, दिन 03.30, शाम 4.45, रात 08.15 बजे.
  2. इलाहाबाद जंक्शन से मुगलसराय सुबह 06.00, सुबह 7.30, सुबह 10.30, दिन 12.00, दिन 01.30, दिन 03.00, शाम 06.30, 09.00 बजे.
  3. इलाहाबाद जंक्शन से झांसी सुबह 08.30 बजे.
  4. इलाहाबाद जंक्शन से सतना सुबह 11.30 बजे.
  5. इलाहाबाद जंक्शन से बांदा दिन 02.30 बजे.
  6. नैनी जंक्शन से बांदा सुबह 07.30 बजे.
  7. नैनी जंक्शन से सतना दिन 01.30 बजे.
  8. नैनी जंक्शन से झांसी शाम 06.00 बजे.
  9. इलाहाबाद छिवकी से झांसी शाम 04.00 बजे.
  10. इलाहाबाद छिवकी से इटारसी शाम 07.30 बजे.
  11. इलाहाबाद सिटी से मंडुवाडीह शाम 04.45 बजे.
  12. झूंसी से मंडुवाडीह सुबह 09.30 ,रात 09.15 बजे.
  13. झूंसी से भटनी सुबह 10.40, दिन 02.20, रात 11.25 बजे.
  14. प्रयाग से लखनऊ सुबह 07.45, 11.05 एवं रात 8.45 बजे.
  15. प्रयाग से फैजाबाद सुबह 07.05, दिन में 01.20, शाम 7.40 एवं रात 10.40 बजे.
  16. प्रयाग से अयोध्या सुबह 09.35, दिन में 02.45, शाम 07.00 एवं रात 11.30 बजे.
  17. प्रयाग से जौनपुर शाम 05.15, सुबह 5.55, सुबह 8.25, दिन 12.30, शाम 5.55 एवं शाम 07.00 बजे.