देश में मौत का आंकड़ा 2 लाख के पार, 150 जिलों में लग सकता है लॉकडाउन

देश में कोरोना के प्रकोप को कम करने के लिए अब आखिरी विकल्प लॉकडाउन ही लगा रहा है. देश में कोरोना से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 2 लाख के पार हो गया है. सभी अस्पतालों और शमशानों में अफरातफरी का माहौल है.

रोजाना लाखों लोग कोरोना की चपेट में आ रहे

कोरोना के मामलों के साथ-साथ वैक्सीनेशन के कार्यक्रम को भी तेज कर दिया गया है लेकिन रोजाना लाखों लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 3 लाख 62 हजार 757 नए मरीज मिले और 3,285 लोगों की मौत हो गई है. राहत की बात ये है कि इस बीच 2 लाख 62 हजार 39 लोग ठीक भी हुए है.

-----

लॉकडाउन लगाने की सिफारिश

-----

बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से केंद्र सरकार को सौंपी गई एक रिपोर्ट के मुताबिक, देश के उन शहरों में लॉकडाउन लगाने की सिफारिश की गई है, जहां संक्रमण की दर 15 फीसदी है. नहीं तो स्वास्थ्य प्रणाली पर इसका बोझ पड़ेगा. इस दौरान सिर्फ जरूरी सेवाओं को ही छूट दी जाएगी. प्रस्ताव में बताया गया है कि देश के 150 जिलों में लॉकडाउन लगाया जा सकता है. हालांकि इस पर आखिरी फैसला केंद्र सरकार, राज्यों के साथ चर्चा करने के बाद लेगी.

कोरोना की दूसरी लहर से देश में ऑक्सीजन की किल्लत बहुत ज्यादा हो गई है. कोरोना का दूसरा स्ट्रेन सीधा फेफड़ों पर अटैक कर रहा है जिससे साँस लेने में दिक्कतें हो रही है और मरीज की मौत भी हुई जा रही है. कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी से कोरोना से पीड़ित मरीजों की मौत होने की खबरें सामने आई हैं.

वैक्सीनेशन पर भी जोर

लोगों को कोरोना से बचाने के लिए वैक्सीनेशन पर भी जोर दिया जा रहा है ताकि कोरोना का प्रभाव कम हो सके. देश में 18 और इससे ज्यादा उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन एक मई से शुरू होगा. इसके लिए रजिस्ट्रेशन आज से यानी 28 अप्रैल से शुरू होना है.