सावधान: भारत के 1.5 करोड़ ‘एंड्रॉयड फोन’ पर वायरस का अटैक, तुरंत अपने फ़ोन में चेक करें ये ऐप

आज कल सभी के पास स्मार्ट फ़ोन है. और आप भी रखते हैं तो ये ख़बर जरूर पढ़ें. वर्ना आपको बहुत बड़ा नुक्सान हो सकता है. क्युकी भारत समेत कई देशों के करीब 2.5 करोड़ एंड्रॉयड यूजर्स के फोन पर वायरस अटैक होने की बात सामने आई है.

1.5 crore android devices infected by virus in india
1.5 crore android devices infected by virus in india

इजराइली साइबर सिक्योरिटी रिसर्च कंपनी चेक पॉइंट की रिपोर्ट के अनुसार इस खतरनाक वायरस ने सबसे ज्यादा भारत जैसे विकासशील देशों के एंड्रॉयड यूजर्स को अपना शिकार बनाया है. और सबसे बड़ी बात है कि इस वायरस के जरिए वॉट्सऐप के साथ दूसरे ऐप्स भी हैक हो जाते हैं. और उनकी जगह अपने फोन में डुप्लीकेट वर्जन इन्स्टॉल हो जाता है. और आपको पता भी नहीं चलता.

-----

फिर बाद में उसी डुप्लीकेट वर्जन की मदद से हैकर्स यूजर्स का निजी डेटा आसानी से चोरी कर सकते है. ये आज कल के लोगों के लिए बहुत बड़ी चेतावनी है. क्युकी आज कल सभी अपने स्मार्ट फोन को ही सबसे बड़ी तिजोरी मानते हैं पर ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. चाहे जितना महंगा आपके पास फोन हो लेकिन वो सेफ नहीं हैं. हैकर्स आपके फोन में कुछ भी कभी भी कर सकते हैं.

इस वायरस का नाम है ‘एजेंट स्मिथ’ और ये मैलवेयर डिवाइस को आसानी से एक्सेस कर सकता है. ये यूजर्स को फाइनेंशियल प्रॉफिट वाले विज्ञापन दिखाता है, जिसका इस्तेमाल यूजर्स के बैंकिंग डिटेल्स को चुराने के लिए किया जा सकता है. ये मैलवेयर Gooligan, Hummingbad और CopyCat से मिलता-जुलता है. अब यूजर्स जैसे ही इन विज्ञापनों पर जाते हैं. कुछ करते हैं तो हैकर्स को आपकी बैंकिंग डिटेल्स चुराने का पूरा मौका मिल जाता है.

अब ये मैलवेयर क्या है ये भी जान लीजिये. तो ये सॉफ्टवेयर ऐसा है जो एक वायरस की तरह से ही काम करता है. अगर ये आपके फोन में इन्स्टॉल हो जाये तो ये आपके डेटा को आसानी से इन्फेक्टेड कर सकता है. ये वायरस इंटरनेट या किसी एप्लिकेशन के जरिए कम्प्यूटर, मोबाइल फोन और कई इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज में जा सकता है.

इसके फोन में आते ही आपका निजी डेटा जैसे कॉन्टैक्ट, मैसेज, बैंक डिटेल, लॉगइन आई जैसी कई जानकारियां वायरस की मदद से चोरी हो जाती हैं. और आपको इसकी भनक तक नहीं लगती है. ये वायरस थर्ड पार्टी ऐप 9apps.com के जरिए फोन में आया है. जो चीन के अलीबाबा ग्रुप का ऐप है. मैलवेयर अटैक के बाद साइबर सिक्योरिटी ने यूजर्स को अलर्ट रहने की बात कही है. आप सभी भी अलर्ट रहें और और अपनी निजी जानकारियों को सुरक्षित रखें.

और इस वायरस का अटैक होगा नहीं बक्लि हो चुका है. भारत में करीब 1.5 करोड़ एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स पर इस मैलवेयर का अटैक हुआ है. वहीं, अमेरिका में 3 लाख और इंग्लैंड में 1,37,000 एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स इससे प्रभावित हुए हैं.