हाथरस में उस दिन क्या हुआ था इस बात की जांच के लिए घटनास्थल पर पहुँची सीबीआई

हाथरस कांड को लेकर अब सीबीआई टीम एक्शन में आ गयी है। अब सीबीआई टीम घटनास्थल का दौरा करने हाथरस पहुंच गयी है। सीबीआई टीम के साथ फॉरेंसिक टीम भी घटना स्थल की जांच करेगी।

सीबीआई टीम के पहुंचने से पहले ही पुलिस घटना स्थल पर पहुंच चुकी थी। अभी तो मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

सीबीआई ने हाथरस कांड की जांच अपने अंडर में लेने के बाद स्थानीय पुलिस स्टेशन से केस से जुड़े कागजात इकट्ठा कर लिए हैं। और इससे पहले इस मामले में प्रदेस सरकार द्वारा गठित एसआईटी की जांच चल रही है। जिसे दस दिन जांच करने की और मोहलत मिली थी।

वहीं पीड़िता के पिता की हालत आचानक बिगड़ गयी। जिसकी सूचना मिलते ही स्वास्थय विभाग के डॉक्टर वहां पहुंच गए। सीएमओ ब्रजेश राठौर ने बताया की आपको बीपी की दिक्कत है औऱ अगर हालात काबू में नहीं आए तो इन्हें जिला अस्पताल ले जाना पड़ेगा।

इस केस पर 12 दिन से एसआईटी जांच कर रही है। बहुत सारे पहलुओं पर जांच चल रही है। रोज नए-नए खुलासे हो रहें है और आरोप-प्रत्यारोप के बीच उलझने बढ़ रहीं हैं। सबसे अहम बात उलझने सुलझाने की होगी जिसका सभी को इंताजार है।

आखिर घटना वाले दिन पीड़िता के साथ खेत में क्या हुआ खेत में बेचारी युवती के साथ आखिर किसने इस जघन्य अपराध को अंजाम दिया। उसकी गर्दन और रीढ़ की हड्डी पर इतने जख्म दिए। उस समय कौन-कौन था वहां पर पीड़िता के परिवार से कौन-कौन था वहां पर ये एक रहस्य बना हुआ है। जिससे बस पर्दा उठने की देर है।

इस मामले में पीड़ित और आरोपी पक्ष एक दूसरे पर आरोप लगा रहें हैं। पीड़ित परिवार का कहना है कि आरोपियों ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया है और उसे गहरी चोटें पहुंचाई थी। वहीं आरोपी पक्ष शक की सुई पीड़िता के परिजनों की तरफ उठा रहें हैं। आरोपी पक्ष का कहना है कि हम उस दिन हम गांव में थे ही नहीं।

अब इस सच्चाई पर से सीबीआई को पर्दा उठाना है। पीड़िता के परिवार ने चार लोगों पर आरोप लगाया है। जबकि उनके परिजन कह रहें कि वो लोग घटनास्थल पर नहीं थे वो अपने काम पर थे। तो अब यह पता लगाना बहुत जरुरी है कि उन लोगों कि लोकेशन कहां कि थी जिससे सीबीआई को काफी मदद मिलने की उम्मीद है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *