स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली छात्रा अपने बयान से पलटी, चिन्मयानंद को राहत

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली कानून की छात्रा एमपी एमएलए आदालत में अपने बयान से पटल गयी। रेप के आरोप में फसे चिन्मयानंद को बड़ी राहत मिली है।

9 अक्टूबर को कोर्ट में दिए गए बयान से पीड़िता रेप के आरोप से मुकर गयी थी। अब इस मामले को लेकर एमपी एमएलए कोर्ट में अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी। इन सबके बीच अभीयोजन ने पीड़िता के पिता को पक्षद्रोही घोषित किया है। साथ ही पीड़िता पर सीआरपीसी की धारा 340 के तहत कोर्ट में कार्यवाही करने की कोर्ट में अर्जी दी गई है।

स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो वायरल करके स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाया था. जिस कॉलेज में छात्रा पढ़ती थी वह डिग्री कॉलेज स्वामी चिन्मयानंद का ही है. पीड़िता के पिता ने शाहजहांपुर स्थित कोतवाली में स्वामी चिन्मयानंद के विरुद्ध मामला दर्ज कराया था।

वहीं 3 फरवरी को इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद केस की सुनवाई शाहजहांपुर जिला अदालत से लखनऊ एमपी-एमएलए कोर्ट में स्थानांतरित की गई थी.इसी दिन हाईकोर्ट से अभियुक्त स्वामी चिन्मयानंद की जमानत अर्जी भी मंजूर हुई थी. आरोप लगाने वाली युवती पर भी चिंन्मयानंद को ब्लैकमेल करने का आरोप है। और कोर्ट में इस केस की सुनवाई चल रही है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *