सपा में शामिल होंगे बीजेपी के सांसद शत्रुघन सिन्हा ? पहुंचे सपा कार्यालय

”श्याम आए तो कह देना छैनू आया था”
शत्रुघन सिन्हा का ये वो डॉयलॉग है जो बच्चे बच्चे की जुबान रटा है. लेकिन छैनू मतलब बीजेपी के बागी सांसद शत्रुघन सिन्हा अचानक लखनऊ पहुंच गए और समाजवादी पार्टी के दफ्तर में अखिलेश को आशीर्वाद दिया. विक्रमादित्य मार्ग पर मौजूद समाजवादी दफ्तर में आज चहल पहल रोजमर्रा की तरह नहीं थी बल्कि नये मेहमानों के स्वागत के लिए गहमागहमी थी. और वो नए मेहमान थे बीजेपी के सांसद शत्रुघन सिन्हा, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अगुआनी कर रहे थे समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव. मौका था जय प्रकाश नारायण जयंती समारोह का.

 

अखिलेश यादव के साथ दिखे बीजेपी
BJP leader Shatru and Yashwant Sinha with Akhilesh Yadav फोटो- सौजन्य- ट्वीटर- @yadavakhiles

बीजेपी ने नोटबंदी करके गलत फैसला लिया- शत्रु

बीजेपी से चिढ़े बैठे शत्रुघन सिन्हा ने कहा कि ‘सत्ता सेवा का माध्यम है मेवा पाने का माध्यम नहीं है. मैं यशवंत जी के साथ देश भर में लोगों को जगाने का काम कर रहा हूं. अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं. व्यक्ति से बड़ी पार्टी हैं और पार्टी से बड़ा देश है. नोटबंदी का फैसला बीजेपी का सही फैसला नहीं था. राफेल पर जनता जवाब जानना चाहती है. मोदी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि अब बच नहीं पाओगे. पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने बीजेपी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि अखिलेश यादव दमदार नेता हैं वो सबसे लोहा लेते हैं.
फोटो- सौजन्य- ट्वीटर- @yadavakhiles
फोटो- सौजन्य- ट्वीटर- @yadavakhiles

सच बोलता हूं इसलिए बागी हूं- शत्रु

शत्रुघन सिन्हा ने अखिलेश की तारीफ करते हुए कहा कि ‘किसी की फिल्म चली हो या न चली हो लेकिन अखिलेश का जादू चल गया है. मैं जयप्रकाश जी से प्रभावित होकर राजनीति में आया था. अगर आप ठान लें तो असंभव को भी संभव कर सकते हैं. लोग बोलते हैं कि आप बीजेपी में रहकर विरोध करते हैं तो मैं कहता हूं अगर सच कहना बगावत है तो मैं बागी हूं, खोखले जुमलेबाजों को लेकर चलेंगे तो ना कोई साथ चलेगा और न कोई बोलेगा’

 

फोटो- सौजन्य- ट्वीटर- @yadavakhiles
BJP leader Shatru and Yashwant Sinha with Akhilesh Yadav फोटो- सौजन्य- ट्वीटर- @yadavakhiles
-----

 

देश में इमरजेंसी के हालात हैं- यशवंत सिन्हा

यशवंत सिन्हा ने कहा, ‘देश में मौजूदा हालात इमरजेंसी से भी बदतर हैं, सभी को एकजुट होकर लड़ना पड़ेगा. शत्रुघ्न और मैं देश भर में घूम कर लोगों को जागरूक कर रहे हैं, देश में लोकतंत्र खतरे में है अगर हम चेते नहीं तो देश का बहुत नुकसान होगा. देश में लोकतांत्रिक संस्थाएं खतरे में हैं, अगर हम एकजुट होकर लड़ें तो जीत हमारी होगी.’