लखनऊ में CAA-NRC को लेकर किए गए विरोध प्रदर्शनकारियों पर पांच हजार का इनाम

CAA-NRC के विरोध में यूपी की राजधानी लखनऊ में पिछले साल दिसंबर में हिंसक प्रदर्शन के बाद योगी सरकार का प्रदर्शनकारियों के खिलाफ ऐक्‍शन लगातार जारी है।

हिंसा में सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में लखनऊ पुलिस पिछले दिनों में कई लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। वहीं, कई आरोपियों की संपत्ति कुर्क कर हुए नुकसान की भरपाई की गई है।

इसी क्रम में कमिश्नरेट पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर पांच-पांच हजार रुपये का इनाम घोषित कर जगह-जगह इनके पोस्टर लगवा दिए है। इसके साथ ही एक आरोपी के पिता को हिरासत में ले लिया है। इस मौके पर उसके परिवार और पुलिसकर्मियों के बीच जमकर झड़प हुई।

पुराने लखनऊ में ठाकुरगंज थाना में दर्ज मुकदमे के तहत मौलाना सैफ अब्बास सहित 14 अन्य आरोपियों के पोस्टर लगाए गए हैं।

इस मामले में अगर पुलिस की मानें तो जिन प्रदर्शनकारियों पर इनाम घोषित है, इनमें से 8 को गैंगस्टर के मुकदमे में वांटेड घोषित किया गया है।

पुलिस ने प्रदर्शन में शामिल रहे आरोपी जैनब सिद्दीकी के पिता नईम को हिरासत में ले लिया है। नईम ने पुलिस पर अपने साथ मारपीट करने का आरोप लगाया है। यह भी आरोप लगाया है कि पिता को छुड़ाने आए जैनब के भाई और बहन को पुलिस ने पीटा।

पुलिस ने जिन मौलाना सैफ अब्बास का पोस्टर में फोटो लगाया है वो अपने घर में ही हैं, लेकिन पुलिस उसे ढूंढ ही नहीं पा रही है। इसके अलावा जो अन्य आरोपी हैं वो भी अपने अपने घरों या रिश्तेदारों के घर में पनाह लेकर बैठे हैं।

सूत्रों के द्वारा बताया जा रहा है अगर पुलिस मौलाना को अरेस्ट करेगी तो उनके समर्थक प्रदर्शन कर विरोध जता सकते हैं। इसके चलते पुलिस उन तक पहुंचने से हिचक रही है।

लखनऊ पुलिस ने आरोपियों की तलाश के लिए पुराने लखनऊ सहित कई इलाकों में पोस्‍टर लगवा दिए हैं। बताया जा रहा है कि आरोपियों के घरों के बाहर पोस्टर और नोटिस भी चस्पा की गई हैं। फरार आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस उनके संभावित ठिकानों पर दबिश भी दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *