मुश्किल वक्त में धैर्य नहीं खोना है, ऑक्सीजन की कमी को युद्ध स्तर पर पूरा किया जा रहा है: PM मोदी

कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश में ऑक्सीजन और अस्पतालों में बेड की कमी से मची अफरातफरी को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया है. और जनता को हौसला दिया.

Pm Modi Address To Nation covid cases in india

ऑक्सीजन की कमी को पूरा किया जा रहा है

कोरोना से पूरा देश मजबूती से लड़ रहा है. सभी स्वास्थ्यकर्मियों, सफाईकर्मियों, डॉक्टर्स जो भी लोग कोरोना से लोगों को बचाने में लगे हुए हैं मैं सभी की सराहना करता हूँ. मुश्किल वक्त में धैर्य नहीं खोना है. सभी राज्य सरकारें अपने अपने प्रयास में लगी हुई हैं. स्वास्थ्य से संबंधित सभी कमियों को पूरा करने में लगे हुए हैं. कई जगहों पर ऑक्सीजन की कमी देखने को मिली हैं. ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए युद्ध स्तर पर काम चल रहा है. रेल से करीब 1 लाख ऑक्सीजन सिलेंडर पहुँचाने पर काम चल रहा है.

-----

1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगों को लगेगी वैक्सीन

-----

1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगने लगेगी. बहुत तेजी से टीकाकरण किया जायेगा. 45 साल के ऊपर के लोगों का टीकाकरण भी तेजी से चलता रहेगा. और पहले की तरह आगे भी सरकारी अस्पतालों में फ्री में वैक्सीन लगेगी. 1 मई से अस्पतालों में वैक्सीन की कमी नहीं होगी. जो जहाँ है वहीँ पर टीका लगवाए और वहीँ पर काम करता रहे. किसी को कहीं जाने की जरुरत नहीं है. लोगों से अपील है कि अपने आस पास के लोगों को भी जागरूक करें, स्वच्छता का सन्देश दीजिये.

लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में देखें

मैं सभी से अपील करता हूँ कि ऐसे संकट की घड़ी में बिना किसी काम के घर से न निकलें, बहुत जरुरी हो तभी घर से निकलें. हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है. मेरा युवा साथियों से अनुरोध है की वो अपनी सोसायटी में, मोहल्ले में,अपार्टमेंट्स में छोटी-छोटी कमेटियां बनाकर कोविड अनुशासन का पालन करवाने में मदद करे. हम ऐसा करेंगे तो सरकारों को न कंटेनमेंट जोन बनाने की जरूरत पड़ेगी, कर्फ़्यू लगाने की, न लॉकडाउन लगाने की. मेरा सभी राज्य सरकारों से भी अनुरोध है कि लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में देखें. पिछले साल लॉकडाउन इसलिए भी लगाना पड़ा था क्योंकि उस समय हम लोगों के पास ज्यादा सुविधाएं नहीं थी. लेकिन आज हमारे पास सारे साधन हैं और अनुभव भी.

कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के लिए अनुशासन बहुत जरू

आज नवरात्री का आखिरी दिन है और कल मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम चंद्र जी का दिन है और उनका सन्देश है की मर्यादा के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करें. कोरोना से बचाव के जो भी उपाए हैं उसको सख्ती से अपनाएँ. हम सभी का प्रयास जीवन बचाने के लिए है. कोरोना के खिलाफ जंग जीतने के लिए अनुशासन बहुत जरूरी है. मैं आपको भरोसा देता हूं कि आपके इस साहस, धैर्य और अनुशासन के साथ जुड़ कर आज की परिस्थितियां जो हैं उन्हें बदलने में देश कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा.

-----