देश को अगले हफ्ते मिल सकती है कोरोना वैक्सीन, कोवीशील्ड के इमरजेंसी अप्रुवल पर उम्मीद बढ़ी

कोरोना वैक्सीन के लिए अब ज्यादा लंबे समय तक इंतजार करने की जरूरत नहीं है. अगले हफ्ते तक भारत ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका द्वारा बनाई जा रही वैक्सीन के इमरजेंसी अप्रुवल दे सकता है.

सूत्रों के अनुसार सरकार ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) से कुछ और डेटा मांगे थे, जो कंपनी ने प्रोवाइड करवा दिए हैं। भारत में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन की मैन्युफैक्चरिंग SII कर रहा है. वैक्सीन बनाने में भारत दुनिया का सबसे बड़ा देश है. ब्रिटिश कंपनी एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को मंजूरी देने वाला भारत पहला देश बन सकता है.

देश में कोरोना वैक्सीन की तैयारियां आखिरी फेज में हैं. सरकार चाहती है कि जनवरी से देश के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगना शुरू हो जाए. इसलिए फाइजर और भारत बायोटेक की वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी भी जल्द दी जा सकती है. बतादें कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को कम आय वाले और गर्म देशों के लिए सुरक्षित माना गया है, क्योंकि ये वैक्सीन बाकी वैक्सीन कंपनियों से तुलनात्मक सस्ती है, इसका ट्रांसपोर्ट आसान है और सामान्य फ्रिज तापमान पर भी इसे लंबे समय तक रखा जा सकता है.

वहीं दूसरी तरफ यूनाइटेड किंगडम में महामारी SARS-CoV-2 कोरोना वायरस का एक नया संस्करण तेजी से फैल रहा है. इसके चलते दुनिया भर में कई यूरोपीय और अन्य देश ब्रिटेन से यात्रा को प्रतिबंधित कर चुके हैं. पिछले हफ्ते, दक्षिण और पूर्वी इंग्लैंड में कोविड -19 मामलों में तेजी से वृद्धि के पीछे नए SARS-CoV-2 संस्करण का कारण बताया गया था. इसे VUI (Variant Under Investigation) 202012/01 या B.1.1.7 वंश के रूप में संदर्भित किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *