त्योहारों से पहले ही मोदी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दिया तोहफा

मोदी सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को त्योहारों से पहले ही तोहफा दे दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान कहा कि महामारी से अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है।

अर्थव्यवस्था में मांग बढ़ाने के लिए दो प्रस्ताव पेश किए हैं। पहला ‘एलटीसी कैश वाउचर स्कीम’ और दूसरा ‘स्पेशल फेस्टिवल एडवांस स्कीम’ है। स्पेशल फेस्टिवल एडवांस स्कीम के तहत सरकारी कर्मचारियों को 10,000 रुपये फेस्टिवल एडवांस देगी। साथ ही कर्मचारियों को एलटीसी में टिकट किराये का भुगतान नकद में किया जाएगा।

वित्त मंत्री ने कहा कि एलटीसी नकद वाउचर योजना और विशेष त्योहार पर अग्रिम योजना शुरू की जाएगी। मांग को प्रोत्साहन के लिए एलटीए खर्च के लिए अग्रिम में राशि दी जाएगी।  एलटीसी के लिए नकद पर सरकार का खर्च 5,675 करोड़ रुपये बैठेगा। सार्वजनिक उपक्रमों और बैंकों को 1,900 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि सरकारी कर्मचारियों को 10,000 रुपये फेस्टिवल एडवांस के तौर पर दिये जाएंगे। जिससे त्योहारों के समय सरकारी कर्मचारियों के पास खरीदारी करने के लिए पैसे हो।
महामारी ने अर्थव्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। सरकार की कई घोषणाएं है जिससे गरीब और कमजोर तबकों की जरूरतों को पूरा किया गया। आपूर्ति की बाधा को कम किया गया लेकिन उपभोक्ता मांग को अभी भी प्रोत्साहित करने की जरूरत है।

वहीं निर्मला सीतारमण ने कहा है कि इस डिमांड को विवेकपूर्ण तरीके से बढ़ाने के लिए ये प्रस्ताव पेश किए जा रहे हैं। कुछ प्रस्ताव पेश किए जा रहें हैं। इसमें कुछ प्रस्ताव खर्च क्षमता को बढ़ाने के लिए तो कुछ-कुछ सीधे-सीधे GDP में बढ़ोत्तरी के लिए हैं।

उन्होने बताया कि अर्थव्यवस्था में डिमांड बढाने के लिए जो प्रस्ताव पेश किए जा रहे हैं। उसे दो भागों में बांटा गया है। उपभोक्ता व्यय और पूँजीगत व्यय।

 

 

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *