जेल से बाहर आने के, 3 दिन बाद ही योगी आदित्यनाथ और आजम होंगें आमने-सामने (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face)

समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान ने उत्तर प्रदेश की सीतापुर जेल में 26 महिने काटने के बाद आखिर आजम (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face) जेल से बाहर आ ही गए..आखिर सुप्रिम कोर्ट ने आजम खान की जमानत मंजूर ही कर ली..आजम खान रिहाई के बाद आजम खान सुबह 8:06 मिनट पर जेल से बाहर आ गए थे..

जेल से बाहर आते ही आजम सबसे पहले उनके दोंनों बेटे शिवपाल यादव और तमाम समर्थकों ने उनका स्वागत किया..सीतापुर में समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक अनूप गुप्ता के घर जलपान के बाद आजम खान रामपुर के लिए निकल गए हैं..

समाजवादी पार्टी से विधायक आजम खान (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face) सीतापुर जेल से निकलते ही भले रामपुर चले गए हों..लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ से आजम खान का सामना तीन दिन बाद ही हो सकती है..

आजम खान ऐसे समय में बाहर आए हैं..जब सूबे में विधानसभा सत्र शुरु होने वाला है..23 मई से उत्तर प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र शुरु होगा..और 31 मई तक चलेगा..योगी आदित्यनाथ की सरकार अपना पहला बजट 26 मई को पेश करेगी..

बजट सत्र में हिस्सा लेने के लिए..अगर विधानसभा जाते हैं तो वहां पर उतना औ योगी आदित्यनाथ और आजम खान का समाना जरुर होगा..लेकिन उस सबसे पहले आजम खान (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face) को विधाननसभा में विधायक पद की सपथ लेनी होगी..क्योंकि कोर्ट ने मार्च में सीतापुर जेल मे रहते हुए..

आजम खान (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face) को विधानसभा में शपथ लेने की अनुमति नहीं थी..सुप्रिम कोर्ट से जमानत मिलने के बाद आजम खान जेल से बाहर आ गए हैं..तो निश्चित तौर पर विधायक पद की शपथ और बजट सत्र में हिस्सा लेने के लिए पहुंच सकते हैं..

आजम खान 26 फरवरी 2020 को जेल गए थे..तब आजम खान रामपुर से सांसद थे..और आजम खान (Yogi Adityanath Azam khan will be Face to Face) लोकसभा सदस्य के तौर पर अभी तक शपथ नहीं ले सके..ऐसे में जमानत पर जेल से बाहर आने के तीन दिन बाद ही विधानसभा का सत्र शुरु होने जा रहा है..जिसमें आजम खान शामिल हो सकते हैं..

आजम खान की रिहाई को लेकर अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कहा-सपा के वरिष्ठ नेता व विधायक मा. श्री आज़म ख़ान जी के जमानत पर रिहा होने पर उनका हार्दिक स्वागत है। जमानत के इस फ़ैसले से सर्वोच्च न्यायालय ने न्याय को नये मानक दिये हैं।पूरा ऐतबार है कि वो अन्य सभी झूठे मामलों-मुक़दमों में बाइज़्ज़त बरी होंगे।

झूठ के लम्हे होते हैं, सदियाँ नहीं!

शिवपाल यादव ने ट्वीट करते हुए कहा-सूबे के आवाम के लिए यह सुखद है कि आजम खान साहब आज उनके चाहने वालों के बीच होंगे…
मैं सीतापुर के लिए निकल चुका हूं, उत्तर प्रदेश के क्षितिज पर नया सूरज निकल रहा है।
आइए, आजम खान साहब का इस्तकबाल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *