बसपा छोड़ सपा में शामिल हुए जुगल किशोर कुशवाहा

2022 विधानसभा चुनाव में करीब 18 महीने हैं लेकिन अभी से नेताओं का दल बदल शुरु हो गया है। बसपा सुप्रिमों मायावती को झटका देते हुए झांसी के रहने वाले जुगल किशोर कुशवाहा अब समाजवादी पार्टी की साइकिल पर सवार हो गए हैं। जुगल किशोर कुशवाहा अखिल भारतीय कुशवाहा महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे हैं और साथ ही जुगल किशोर कुशवाहा रेल कर्मचारी संगठन के जोनल अध्यक्ष रहे हैं।

वे झांसी के क्षेत्र के पूर्व प्रभारी बसपा भी रहें हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष आज जुगल किशोर कुशवाहा सपा में शामिल हो गए हैं। उन्होंने समाजवादी पार्टी की नीतियों और अखिलेश यादव के नेतृत्व के प्रति निष्ठा जताते हुए 2022 के विधानसभा के चुनाव को लेकर प्रदेश में समाजवादी सरकार बनाने का संकल्प लिया।

इस मौके पर जुगल किशोर कुशवाहा ने कहा की भाजपा सरकार ने उन्हें धोखा दिया है। क्योंकि भाजपा सरकार गरीबों और तबकों कि सरकार नहीं भाजपा सरकार सिर्फ और सिर्फ कॉरपोरेट घरानों की सरकार है। वहीं समाजवादी पार्टी समाज को न्याय की तरफ ले जाने वाली पार्टी है।

अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी जनसंख्या के अनुपात में सम्मान और हक देने के लिए जातिवार जनगणना की मांग करती है। उन्होंने कहा की इस गणना के बाद किसी को किसी से कोई शिकायत नहीं होगी। सामाजिक तानाबाना सुधरेगा। अखिलेश यादव ने कहा कि जो पिछड़ों दलितों और आर्थिक रुप से मजबूर लोगों कि बेहतर जिंदगी के लिए जो काम समाजवादी पार्टी ने किए थे उन कामों को भाजपा सरकार ने चौपट कर दिया है। समाजवादी पार्टी सिर्फ विकास चाहती है ।भाजपा सरकार विकास विरोधी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *