जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती के बयान पर हंगामा बीजेपी कार्यकर्ताओं को पुलिस में लिया हिरासत में

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यंत्री महबूबा मुफ्ती के तिरंगे वाले बयान पर हंगामा मच गया है. महबूबा के इस बयान पर बीजेपी ने विरोध जताया है। वहीं कुपवाड़ा में बीजेपी कार्यकर्ता श्रीनगर की मशहूर लाल चौक पहुँचे और तिरंगा फहराने कि कोशिश की. हालांकि इस दौरान बीजेपी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पकड़ लिया और चार लोगों को हिरासत में भी ले लिय़ा है.

वहीं महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जब तक कश्मीर में दोबारा अनुच्छेद 370 बहाल नहीं हो जाता और उन्हें कश्मीर का झंडा नहीं मिल जाता तो वो तिरंगा नहीं थामेंगीं। इस बात पर ABVP  के कार्यताओं ने राष्ट्रीय ध्वज पर विवादित टिप्पणी को लेकर महबूबा मुफ्ती के खिलाफ जम्मू में पीडिपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। जम्मू में पीडीपी दफ्तर के बाहर कुछ युवाओं ने तिरंगा फहराया था साथ ही महबूबा मुफ्ती के खिलाफ जमकर नारे बाजी हुई थी।

दरसल महबूबा मुफ्ती ने रिहा होने के बाद ये ऐलान कर किया था कि मैं जम्मू-कश्मीर के अलावा कोई भी झण्डा नहीं उठाऊंगीं. और साथ ही ये भी कहा कि जिस समय हमारा झंडा वापस आएगा उस समय हम (तिरंगे) झंडे को भी उठा लेंगें। मगर जबतक हमारा अपना झंडा नहीं आता तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगें।

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वो झंडा हमारे आईने का हिस्सा है उस झंडे से हमारा रिश्ता उस झंडे ने बनाया है। आपको बता दें कि बीजेपी ने महबूबा के इस बयान को देशद्रोही बताया है। बीजेपी ने कहा है कि धरती की कोई भी ताकत वह झंडा फिर से नहीं फहरा सकती और अनुच्छेद 370 को वापस नहीं ला सकती है। प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष रवीन्द्र रैना ने कहा कि मैं उपराज्यपाल रैना से अनुरोध करता हूँ की वह महबूबा मुफ्ती के देशद्रोही बयान का संज्ञान ले और उन्हें सलाखों के पीछे डालें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *