crossorigin="anonymous"> कंबोडिया के अंकोरवाट की तरह विश्व का सबसे बड़ा विष्णु मंदिर बनवाएंगे अखिलेश - Ulta Chasma Uc

कंबोडिया के अंकोरवाट की तरह विश्व का सबसे बड़ा विष्णु मंदिर बनवाएंगे अखिलेश

अखिलेश यादव अगर चुनाव जीतते हैं. तो जैसा विष्णु का मंदिर कंबोडिया में अंकोरवाट का है. उसी तरह का भव्य दिव्य मंदिर चंबल के बीड़हों के पास बनवाएंगे..
मंदिर के मुद्दों को अब तक बीजेपी से ही जोड़कर देखा जाता था. लेकिन अब समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मास्टर स्ट्रोक चल दिया है. अखिलेश यादव ने भगवान कृष्ण का अवतार लेने वाले विष्णु भगवान का भव्य मंदिर बनवाने का ऐलान कर दिया है.
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि भगवान विष्णु का नगर विकसित किया जाएगा. जिसमें भव्य मंदिर होगा और ये मंदिर कंबोडिया के अंकोरवाट मंदिर की ही तरह होगा. अखिलेश ने कहा कि हम इटावा की लॉयन सफारी के करीब भगवान विष्णु के नाम पर 2,000 एकड़ से ज्यादा जमीन पर नगर विकसित करेंगे. हमारे पास चंबल के बीहड़ों में काफी जमीन है. भगवान विष्णु का भव्य मंदिर होगा. ये मंदिर कंबोडिया के अंगकोरवाट मंदिर की ही तरह होगा.
चंबल में अगर भगवान विष्णु का कोई भव्य मंदिर बनता है तो पर्यटन को बढ़ावा भी मिलेगा और हिंदुओं के ऊपर से बीजेपी का कब्जाधारी होने का अधिकार भी हट जाएगा. सपा का कहना है कि मंदिर कोई भी पार्टी बनवा सकती है. मंदिर पर सिर्फ बीजेपी जन्म सिद्ध अधिकार थोड़ी ही है.
अखिलेश ने वादा किया है कि अगर वो सत्ता में आए तो भगवान विष्णु का एक नगर निश्चित तौर पर विकसित करेंगे. अखिलेश ने कहा कि भगवान राम और भगवान कृष्ण दोनों विष्णु के ही अवतार हैं. अध्ययन के लिए विशेषज्ञों की टीम कंबोडिया भेजी जाएगी. कंबोडिया में अंगकोरवाट में भव्य मंदिर है..जो अब धीरे-धीरे ये बौद्ध स्थल में बदल चुका है..
तस्वीर- सौजन्य गूगल
तस्वीर- सौजन्य गूगल
अखिलेश के विष्णु भगवान का भव्य मंदिर बनवाने के ऐलान के बाद से ही विरोधी खेमे में खलबली देखी जा रही है. बीजेपी ने इसे समाजवादी पार्टी की नौटंकी करार दिया है. और लोगों को बरगलाने की साजिश बताया है. वहीं अखिलेश के मंदिर बनवाने  के फैसले के बाद समाजवादी बीजेपी पर हमलावर है. सपा का कहना है कि मंदिर बनवाने का लाइसेंस केवल बीजेपी के पास नहीं है.